राजधानी दिल्ली में लोकमत पार्लियामेंट्री अवार्ड 2023 के पांचवें संस्करण के पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में कई अतिथिगण शामिल हुए हैं और केंद्रीय सड़क परिवहन और राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के हाथों पुरस्कारों का वितरण किया गया। कार्यक्रम में कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर भी आज यहां मौजूद हैं। शशि थरूर को ‘बेस्ट सांसद ऑफ ईयर’ पुरस्कार से नवाजा गया है। वहीं इस कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कई बातों को सामने रखा। उन्होंने कहा कि, आज कल अच्छे काम करने वालों को सम्मान नहीं मिलता है। साथ ही उन्होंने कहा कि, नेताओं के बीच मतभेद होना चाहिए मनभेद नहीं।

नितिन गडकरी ने अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी से सीखा है कि नेताओं के बीच मतभेद होना चाहिए यह अच्छा है लेकिन मनभेद नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज गौरवपूर्ण लोकतंत्र को आगे बढ़ाने में हमारे सांसदों की गुणवत्ता है, लेकिन आज हमारी समस्या नेताओं के बीच मतभेद नहीं बल्कि विचारों की शून्यता है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, “मैं हमेशा मजाक में कहता हूं कि चाहे किसी भी पार्टी की सरकार हो, एक बात तय है कि जो अच्छा काम करता है उसे कभी सम्मान नहीं मिलता और जो बुरा काम करता है उसे कभी सजा नहीं मिलती।” उन्होंने कहा कि, “हमारी बहसों और चर्चाओं में मतभेद हमारी समस्या नहीं है। हमारी समस्या विचारों की कमी है।”

उन्होंने कहा कि, “ऐसे लोग भी हैं जो अपनी विचारधारा के आधार पर दृढ़ विश्वास के साथ खड़े हैं लेकिन इस तरह के लोगों की संख्या घट रही है। और विचारधारा में गिरावट, जो हो रही है, लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है।” केंद्रीय मंत्री ने कहा कि “न तो दक्षिणपंथी और न ही वामपंथी, हम जाने-माने अवसरवादी हैं, कुछ लोग ऐसा लिखते हैं। और सभी सत्तारूढ़ दल से जुड़े रहना चाहते हैं।”