देश में BJP की राजनीति को लेकर TMC नेता माजिद मेनन ने हमला बोला है। साथ ही, उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पीएम मोदी और भाजपा पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास धर्म की राजनीति के अलावा कोई मुद्दा नहीं है। इसके बाद उन्होंने मथुरा और काशी में मंदिर बनाए जाने वाले सीएम योगी के बयान को लेकर कहा कि एक राज्य के मुख्यमंत्री होने के नाते योगी इस तरह की बात बोल सकते हैं लेकिन उन्हें सुप्रीम कोर्ट के बाबरी मस्जिद पर दिए 5 जज के फैसले को ठीक से पढ़ना चाहिए। जिसमें कोर्ट ने कहा कि अयोध्या में हिंदुओं के भगवान रामलला ने वहां जन्म लिए थे। इसलिए आस्था के आधार पर मंदिर बनाने का आदेश दिया गया। लेकिन अयोध्या के अलावा दूसरे किसी भी जगह पर यह आदेश लागू नही होगा।

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार ही चलना होगा

अब यह मथुरा और काशी की बात कर रहे हैं तो सुप्रीम कोर्ट का आदेश तो उस पर लागू नहीं होता। इसके अलावा 1991 के पूजा स्थल अधिनियम भी है। जो 15 अगस्त 1947 के पहले के धार्मिक स्थल में किसी भी तरह के बदलाव को नाजायज और गलत करार दिया है। हालांकि भाजपा के एक सांसद इस कानून को भी रद्द करने की मांग कर चुके हैं। इस मामले में केंद्र को भी खुलकर सामने आना चाहिए, लेकिन यह सब एक कानूनी प्रक्रिया के तहत होगा। मोदी या योगी के सदन में बयान दे देने से इसका कोई मतलब नहीं बनता।

धर्म के अलावा BJP के पास कोई और मुद्दा नहीं

मथुरा और काशी में मंदिर बनाने की बातें भाजपा और योगी आदित्यनाथ का राजनीतिक बयान है क्योंकि उन पर भाजपा और पीएम मोदी का भारी दवाब है। योगी जी जिस उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, वहां पर 80 सीट में से 75 सीट का स्ट्राइक रेट रखने का दबाव है। इस काम को पूरा करने के लिए उनके पास और मुद्दे क्या ही हैं? मंदिर के अलावा अयोध्या, काशी और मथुरा पर भी इसलिए बयान दे रहे हैं कि जनता बस इसी धर्म के भ्रम में फंसकर भाजपा को वोट दे देगी लेकिन यह गलत सोच है। UP की जनता समझदार है।

उत्तराखंड में UCC बिल को लेकर बोले माजिद मेनन

उत्तराखंड में UCC बिल को लेकर माजिद मेनन से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि एक मुख्यमंत्री होने के नाते धामी को यह अधिकार है कि संख्या बल के आधार पर वो कोई बिल पास करवाकर राज्य के लिए कानून बना लें। लेकिन UCC को लेकर अगर किसी का विरोध होगा तो वो उत्तराखंड छोड़कर आसपास के राज्यों में चल जाएगा। जहां UCC कानून नहीं लागू होगा। ऐसे में तो उत्तराखंड और आसपास के राज्यों में पूरी तरह से अफरा-तफरी मच जाएगी। एक राज्य में UCC कानून बनाने से कोई फायदा नहीं होगा। इस कानून को उत्तराखंड राज्य के लोग ही पूरी तरह से नहीं मानेंगे।

NDA से जयंत चौधरी के हाथ मिलाने को लेकर बोले माजिद मेनन

NDA से जयंत चौधरी के हाथ मिलाने को लेकर मेनन ने कहा कि मैं जयंत चौधरी को अच्छे से जनता हूं। मुम्बई में INDIA की बैठक में उनसे मुलाकात हुई थी। वे और उनके पिता भाजपा के कट्टर विरोधी हैं। जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव करीब आएगा, भाजपा के लोग देश में इस तरह के बयान देकर भ्रम फैलाएंगे। INDIA alliance की पार्टियां गठबन्धन छोड़कर NDA में जा रही हैं। बीजेपी कहती है कि जयंत चौधरी के साथ डील फाइनल है तो कभी चंद्रबाबू नायडू और पवन कल्याण से डील पक्की होने की बात करती है। इन नेताओं का अमित शाह और नड्डा से मिलने से कोई फर्क नही पड़ता। पहले औपचारिक तौर पर NDA में शामिल होने के कुछ सबूत सामने आए तब बात किया जाए। यह भाजपा की सब हवा-हवाई हैं।