• Fri. Jan 27th, 2023

गोवा की सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी TMC, जानें प्लान

ByShailesh Kumar

Oct 1, 2021

तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के एक दिन बाद पूर्व मुख्यमंत्री लुइजिन्हो फलेरियो ने कहा है कि ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी की योजना गोवा की सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ने की है। फलेरियो ने कहा कि अगले साल होने वाले गोवा विधानसभा चुनाव में बिना किसी गठबंधन के अपने दम पर मैदान में उतरने की है।

मीडिया से बात करते हुए गोवा के पूर्व सीएम ने कहा कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी 15 दिनों की पितृ पक्ष अवधि समाप्त होने के बाद राज्य का दौरा करेंगी। क्योंकि नई परियोजनाओं को शुरू करने के लिए यह समय अशुभ माना जाता है। फलेरियो नौ अन्य नेताओं के साथ बुधवार को राजधानी कोलकाता में टीएमसी में शामिल हो गए।

40 सीटों पर नए चेहरे उतारना चाहेंगे

पार्टी उन विधायकों पर विचार करेगी या नहीं जो एक पार्टी से दूसरी पार्टी में चले गए हैं, के सवाल के जवाब में फलेरियो ने कहा कि पार्टी गोवा में आगामी चुनाव के लिए नए चेहरों की तलाश कर ही है। जहां तक टीएमसी का सवाल है, हम 40 नए चेहरे देना चाहेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या टीएमसी गठबंधन बनाने की योजना बना रही है, उन्होंने कहा, हम अकेले ही जाने वाले हैं। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के लिए गोवा में आगामी चुनाव जीतना संभव है, हालांकि चुनाव के लिए बहुत कम समय बचा है। चुनाव फरवरी में होने हैं।

गोवा में चुनाव के लिए सर्वे कर रही प्रशांत किशोर की टीम

फलेरियो ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि पार्टी गोवा में कभी भी सरकार नहीं बनाना चाहती थी और इसलिए 2017 के चुनावों के बाद सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के बावजूद उसने इसके लिए दावा नहीं किया। उन्होंने कहा कि आई-पीएसी (इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी) गोवा में एक सर्वेक्षण कर रही है, जिसके परिणाम अगले 10-15 दिनों में उपलब्ध होंगे, जिसके बाद गोवा में चुनाव के लिए विस्तृत रोडमैप तैयार किया जाएगा।

बीजेपी के खिलाफ जारी करेंगे आरोपपत्र: फलेरियो

उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस गोवा में भाजपा सरकार के खिलाफ एक ‘आरोपपत्र’ जारी करेगी, जो उसके ‘कुकर्मों’ का पर्दाफाश करेगी। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 17 सीटों पर जीत हासिल की थी और बीजेपी को 13 सीटों पर सीमित कर दिया था। हालांकि, कांग्रेस को पीछे छोड़ते हुए भगवा पार्टी ने क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन किया और वरिष्ठ नेता मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में सरकार बनाई।