छठ पूजा पर रांची से पटना के लिए चलेगी ट्रेन, टाइम टेबल जारी

छठ महापर्व को देखते हुए दक्षिण-पूर्व रेलवे ने खास तैयारी की है. यात्रियों की भीड़ को देखते हुए रेलवे ने छत्‍तीसगढ़ के दुर्ग से बिहार की राजधानी पटना तक के लिए स्‍पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया है. छठ पूजा स्‍पेशल ट्रेन दुर्ग से चलकर झारखंड की राजधानी रांची और चक्रधरपुर रेल मंडलों के कई स्‍टेशनों से होते हुए पटना तक जाएगी.

छठ महापर्व के मौके पर बड़ी तादाद में लोग अपने घरों को लौटते हैं. खासकर बिहार के यात्रियों की तादाद काफी ज्‍यादा होती है. ऐसे में भारतीय रेल ने स्‍पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया है, ताकि यात्रियों को ज्‍यादा कठिनाइयों का सामना न करना पड़े. छत्‍तीसगढ़ और झारखंड से कई ट्रेनें बिहार के लिए जाती हैं. ऐसे में रेलवे ने उन ट्रेनों का भार कम करने की योजना के तहत नई ट्रेन चलाने का फैसला किया है.

छठ पूजा के मौके पर दुर्ग-पटना स्‍पेशल ट्रेन दुर्ग से 7 नवंबर और पटना से 8 नवंबर को प्रस्‍थान करेगी. दुर्ग से यह ट्रेन सुबह 8:50 बजे प्रस्‍थान करेगी और अगले दिन सुबह 5 बजे पटना पहुंचेगी. वहीं, पटना से यह स्‍पेशल ट्रेन सुबह 7 बजे प्रस्‍थान करेगी और अगले दिन सुबह 5 बजे दुर्ग पहुंच जाएगी. नई स्‍पेशल ट्रेन का रूट भी तय कर दिया गया है.

दुर्ग-पटना स्‍पेशल ट्रेन रांची और चक्रधरपुर रेल मंडल के कई स्‍टेशनों से होकर गुजरेगी. मालूम हो कि झारखंड में छठ पूजा व्‍यापक पैमाने पर मनाया जाता है. वहीं, झारखंड से बड़ी तादाद में लोग बिहार भी आते हैं. इसे देखते हुए इस ट्रेन का रूट कुछ इस तरह से तय किया गया है कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को इसका लाभ मिल सके.

दुर्ग-पटना स्‍पेशल एक्‍सप्रेस ट्रेन में 2 AC कोच होंगे. इसके अलावा 4 स्‍लीपर कोच भी होंगे. दक्षिण-पूर्व रेलवे ने जनसामान्‍य यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए स्‍पेशल ट्रेन में 10 जनरल कोच (सेकेंड क्‍लास कोच) लगाने का फैसला किया है. यह ट्रेन झारखंड में झारसुगुड़ा, राउरकेला, हटिया, रांची, मुरी और बोकारो में रुकेगी. रेल यात्री संघ ने रेलवे के इस फैसले का स्‍वागत किया है. संघ का कहना है कि त्‍योहार के मौके पर नई ट्रेन चलने से यात्रियों को सुविधा होगी.

18 ट्रेनों को दोबारा चलाने का प्रस्‍ताव
बता दें कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने के बाद अब भारतीय रेल भी ट्रेनों के परिचालन को सामान्य करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. रांची रेल मंडल ने दक्षिण-पूर्व रेलवे को 9 जोड़ी ट्रेनों को फिर शुरू करने का प्रस्‍ताव भेजा है. इस प्रस्‍ताव के स्वीकार होने से रांची रेल मंडल में ट्रेनों का परिचालन काफी हद तक सामान्य हो जाएगा.

ट्रेनों का परिचालन कोरोना पूर्व जैसा न होने से यात्रियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में रेलवे पर ज्‍यादा से ज्‍यादा पैसेंजर ट्रेनों को चलाने का दबाव है. हालांकि, रेलवे स्थिति का पूरी तरह से आकलन करने और स्‍थानीय प्रशासन के साथ सामंजस्य के बाद ही ट्रेनों को चलाने पर सहमत हो रहा है.