बिहार में अपराधियों का तांडव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। राज्य के अंदर लगातार हत्या,लूट, छिनतई और गोलीबारी की खबरें निकल कर सामने आती रहती है। इसी कड़ी में अब एक ताजा मामला राजधानी पटना से सटे इलाके पुनपुन से निकल कर सामने आया है। जहां घर लौट रहे दो भाईयों को गोलियों से भून दिया गया है। इन दोनों के शरीर में 7 गोलियां उतार दीं। जिसमें एक की मौत और दूसरे की हालत गंभीर है।

मिली जानकारी के अनुसार, पटना के पुनपुन थाना इलाके के गौरीचक गांव के नजदीक अपराधियों ने बाइक सवार दो भाइयों को गोलियों से भून दिया। घात लगाकर तीन अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया और फरार हो गए। गोली लगने से गौरीचक बाजार निवासी गोलू कुमार (18) की मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से जख्मी बड़े भाई राजेश कुमार (30) को इलाज के लिए एनएमसीएच में भर्ती कराया गया है। वहां उनकी स्थित स्थिर बनी हुई है।

बताया जा रहा है कि, अवैध मिट्टी खनन के विवाद में घटना को अंजाम दिया गया। इसमें गौरीचक और संपतचक गांव के अपराधियों का हाथ होने का शक है। गौरीचक थाना प्रभारी कृष्ण कुमार ने बताया कि फिलहाल मृतक के परिजनों ने लिखित शिकायत नहीं दी है। बावजूद पुलिस आरोपितों का पता लगा उनकी गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गई है।

गौरीचक बाजार निवासी राजनंदन राय के बेटे राजेश और गोलू नदी के किनारे से मिट्टी काट कर उसे बेचने का काम कर रहे थे। अवैध खनन को लेकर अन्य पक्ष ने उनका विवाद चल रहा था। रविवार को गोलू और राजेश बाइक से बिहटा से अपने गांव लौट रहे थे। अपरान्ह करीब 4 बजे जैसे ही वे गौरीचक गांव के समीप पहुंचे पहले से घात लगाए अपराधियों ने उनपर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।

बाइक गोलू चला रहा था। हथियारबंद तीन अपराधियों ने करीब एक दर्जन गोलियां दांगी। इनमें से सात गोली गोलू के सिर, पेट और शरीर के अन्य हिस्सा जबकि एक गोली राजेश को लगी। गोली लगने से घटना स्थल पर ही गोलू की मौत हो गई। बाद में जख्मी राजेश को इलाज के लिए एनएमसीएच भेजा गया। घटना की सूचना मिलते ही गौरीचक पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तबतक फायरिंग करते हुए अपराधी संपतचक की ओर फरार हो चुके थे। उधर गोलीबारी की वारदात से गुस्साए लोगों ने गौरीचक बाजार के पास पटना गया एसएच-1 को जाम कर दिया। लोगों पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहा थे।

जाम के कारण इस मार्ग पर चार से शाम छह बजे तक आवागमन ठप रहा। रोड बंद होने से सड़क पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। लोग परेशान होते रहे। बाद में पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर जाम को हटाया। मिट्टी के अवैध खनन को लेकर पांच महीने पहले भी गोलीबारी की घटना हुई थी। इसमें गोलू और मिट्टी का अवैध खनन करने वाले दूसरे पक्ष ने एक दूसरे के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया था। इसी बीच खनन विभाग ने एक हफ्ते पहले अवैध खनन कर रहे दूसरे पक्ष की गाड़यिां जब्त तक ली थी।