Categories: success story

एक ही घर की दो बेटियां बनीं IAS, एक ही नोट्स से की UPSC की तैयारी

संघ लोक सेवा आयोग यानी कि यूपीएससी की परीक्षा इतनी कठिन होती है कि एक जिले के दो अभ्यर्थियों का यूपीएससी क्लियर करना भी बेहद मुश्किल है. ऐसे में एक ही घर की दो बेटियां एक ही साल में एक साथ यूपीएससी की परीक्षा क्लियर कर लें तो ये वाकई में तारीफ के काबिल है. पिछले ही महीने UPSC द्वारा सिविल सेवा परीक्षाओं के नतीजे घोषित किए गए. इस बार यूपीएससी में बिहार के शुभम कुमार टॉप पर रहे. वहीं दिल्ली की अंकिता जैन ने ऑल इंडिया 3rd रैंक हासिल किया.

निश्चित ही अंकिता की इस बड़ी कामयाबी से उनका परिवार बेहद खुश होगा लेकिन उनकी खुशी केवल अंकिता के लिए ही नहीं बल्कि वैशाली जैन के लिए भी है, जिन्होंने ऑल इंडिया 21वीं रैंक प्राप्त की है. बता दें कि वैशाली अंकिता कि छोटी बहन हैं और दोनों बहनों की इस सफलता के बाद एक ही घर में दो बेटियां आईएएस अफसर बन गई हैं. इन दोनों बहनों के बारे में खास बात ये है कि इन दोनों ने एक ही नोट्स से यूपीएससी एग्जाम की तैयारी की थी. दोनों बहनों ने एक दूसरे को प्रेरित किया और आगे बढ़ीं. दोनों की रैंक में भले ही थोड़ा बहुत अंतर हो लेकिन दोनों की मेहनत बराबर थी.

अंकिता जैन और वैशाली जैन के पिता सुशील जैन एक व्यवसायी हैं वहीं इनकी मां अनीता जैन एक गृहणी हैं. दोनों बहनों की इस सफलता में इनके माता पिता की अहम भूमिका रही है. अंकिता जैन ने अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक की डिग्री प्राप्त की. बीटेक कंप्लीट करने के बाद उन्हें एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी मिल गई लेकिन उन्होंने नौकरी पर ध्यान देने की बजाए यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करना सही समझा और इसमें पूरे मन से जुट गईं.

अंकिता ने 2017 में यूपीएससी एग्जाम की तैयारी शुरू की. कड़ी मेहनत के बावजूद उन्हें पहले प्रयास में सफलता नहीं मिली. इसके बाद उन्होंने दूसरे प्रयास में परीक्षा पास कर ली. अंकिता ने परीक्षा तो पास कर ली थी लेकिन वह इतनी अच्छी रैंक ना पा सकीं जिससे उनका सलेक्शन आईएएस के लिए हो पाता.

इस बिच अंकिता DRDO के लिए भी चयनित हुईं. यूपीएससी क्लियर करने के बाद उन्हें एक बार IA&AS बैच के लिए भी चुना गया लेकिन अंकिता के लिए ये पर्याप्त नहीं था. उन्होंने यूपीएससी के लिए फिर से प्रयास किया लेकिन वह प्रीलिमिनरी भी क्लियर नहीं कर पाईं.

अंकिता को सफलताएं तो मिल रही थीं मगर वह अपनी आईएएस की मंजिल तक नहीं पहुंच पा रही थीं. यूपीएससी में मिल रही असफलताओं के बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और अंतिम प्रयास में परीक्षा पास कर आईएएस बनने का अपना सपना पूरा कर लिया.

वहीं अंकिता की छोटी बहन वैशाली जैन रक्षा मंत्रालय के तहत IES अधिकारी रही हैं. दोनों बहनों ने एक ही नोट्स से एक साथ यूपीएससी की तैयारी की और इसे एक साथ ही क्लियर भी किया. अपनी इस बड़ी सफलता के बाद देश की बेटियों के लिए ये दोनों प्रेरणा बन कर सामने आई हैं.

Rajkumar Raju

Share
Published by
Rajkumar Raju

Recent Posts

केएल राहुल और आथिया शेट्टी की शादी के बाद की पर्सनल तस्वीरें आईं सामने

23 जनवरी को सुनील शेट्टी की लाडली आथिया शेट्टी और क्रिकेटर केएल राहुल हमेशा के…

1 day ago

बागेश्वर सरकार करेंगे जया किशोरी से शादी? पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने खुद बताई पूरी सच्चाई

बागेश्वर धाम बाबा पहले से ही बहुत मशहूर हैं लेकिन इन दिनों वह विवादों की…

1 day ago

सुपर 30 के आनंद कुमार को मिलेगा पद्मश्री, बिहार के इन लोगों के नाम का ऐलान

अभी-अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है. बताया जाता है कि सुपर थर्टी से…

1 day ago

उपेंद्र कुशवाहा को लेकर कांग्रेस का बड़ा दावा, महागठबंधन में मचे घमासान पर भी बोले

जेडीयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को लेकर जदयू और महागठबंधन के अंदर…

1 day ago

RCP सिंह के बाद अब उपेंद्र कुशवाहा JDU से होंगे OUT?, महागठबंधन पर भी ललन सिंह ने दिया जवाब

उपेंद्र कुशवाहा को लेकर बिहार का सियासी पारा इन दिनों चढ़ा हुआ है. यहां राजनीतिक…

1 day ago

उपेंद्र कुशवाहा को बड़ा झटका, सबसे करीबी ने छोड़ा साथ, जानें पूरा मामला

उपेंद्र कुशवाहा बागी तेवर की वजह से जेडीयू के अंदर अलग-थलग पड़ गए हैं. वहीं…

1 day ago