नीतीश सरकार को 12 फरवरी को विधानसभा में बहुमत साबित करना है। फ्लोर टेस्ट से पहले सियासी हलचल काफी तेज हो गई है। जेडीयू विधायकों की एकजुटता को देखने के लिए मंत्री श्रवण कुमार के आवास पर विधायकों को बुलाया गया था। लेकिन पांच मिनट में नीतीश कुमार बाहर निकल गये और कुछ विधायक भी भोज में शामिल नहीं हुए। जेडीयू विधायक दल की बैठक पर राजद के विधायक फतेह बहादूर सिंह ने चुटकी लेते हुए कहा कि ये तो ट्रेलर है अभी पूरी फिल्म बाकी है। जो 12 फरवरी को देखने को मिलेगा। वही राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि नीतीश कुमार अब विधानसभा को भंग करेंगे। इसलिए तमाम विधायकों से उन्होंने अपील की है कि वो किसी के झांसे में ना पड़े।

राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि हमारे पास बहुमत के आंकड़े हैं इसलिए झांसे में ना आए। RJD विधायक भाई वीरेंद्र ने बड़ा खुलासा किया है। कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास बहुमत नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब विधानसभा को भंग करेंगे। भाई वीरेन्द्र ने पार्टी के विधायकों से अपील की है कि वो किसी झांसे में ना आएं। कोशिश 20 महीने पहले विधायकी खत्म करने की हो रही है। हमारे पास बहुमत के आंकड़े हैं।

भाई वीरेंद्र ने मीडिया के सवालों पर कहा कि राज को राज रहने दीजिए। राजद विधायक एकजुट है ये ना तो टूटने वाले हैं ना ही झूकने वाले है। जिसके साथ हैं उसके साथ जीने मरने को तैयार है। भाई वीरेंद्र ने एनडीए का मतलब जुमलेबाज पार्टी बताया। वही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर चुटकी लेते हुए कहा कि वोट ना भाट अंग्रेजी बाजा जब रहेंगे तो हमही राजा..उन्होंने कहा कि सदन को भंग करके नीतीश कुमार विधानसभा चुनाव फिर से कराना चाहते हैं। सभी दल के माननीय विधायकों से उन्होंने आग्रह किया कि इनके मनसूबे पर पानी फेरे। क्योंकि 20 महीना समय अभी बचा हुआ है। नीतीश खुद विधान परिषद में जाएंगे। सभी विधायकों से कहना चाहेंगे कि इस पर विचार होना चाहिए और संज्ञान लेना चाहिए।