बिहार विधानसभा में नीतीश सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास हो गया है। पहले इसे ध्वनिनमत से पास किया गया लेकिन फिर तेजस्वी यादव की आपत्ति पर वोटिंग कराई गई। इसके बाद स्पीकर को हटाने के लिए ‘हां’ के पक्ष में 125 वोट और ‘ना’ के पक्ष में 122 वोट पड़े। विधानसभा स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास होने के बाद सदन में तेजस्वी यादव उठे और नीतीश कुमार पर पूरी ताकत से हमला किया। इस दौरान तेजस्वी ने कहा कि मैं इस नई सरकार के खिलाफ खड़ा हूं। मैं 9 बार शपथ लेकर इतिहास रचने के लिए सीएम नीतीश कुमार को धन्यवाद देना चाहता हूं।”

“नीतीश के दोबारा ना पलटने की मोदी गारंटी लेंगे क्या?”

इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ने हमें पहले भी आशीर्वाद दिया था कि अब यही आगे बढ़ाएगा। हम मानते हैं कि हम वनवास नहीं आए हैं। नीतीश जी ने हमें कहा था कि बीजेपी वाले ईडी-सीबीआई लगाकर फंसाने का काम करते हैं। तेजस्वी ने नीतीश से सवाल किया कि आखिर ऐसी क्या मजबूरी थी कि आपको ये निर्णय लेना पड़ा। आपने बोला था कि आपने एनडीए को इसलिए छोड़ा था क्योंकि हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास किया था। आपने कहा था कि हम लोगों का एक ही लक्ष्य है कि देशभर के विपक्षी दलों को एकजुट करना है। विधानसभा में चर्चा के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि अभी बीजेपी वाले’मोदी की गारंटी’की बात करते हैं। तेजस्वी ने आगे कहा कि क्या मोदी नीतीश कुमार के दोबारा ना पलटने की गारंटी लेंगे?

“आखिर ऐसी क्या मजबूरी थी”

तेजस्वी ने नीतीश से कहा, “आपने ही कहा था ना कि आपके बाप से पैसा लाएगा जो रोजगार देगा। हमने वादा किया था कि खाली पड़े हुए पदों को भरेंगे। जो खाली पद पड़े थे, हमारी गठबंधन सरकार ने भरने का काम किया।” तेजस्वी ने ये भी कहा कि जब बीजेपी को आप धोखा देना चाह रहे थे, हम आपके साथ नहीं आना चाहते हैं, लेकिन देशभर के नेताओं का दबाव है कि एक बार 2024 के चुनाव में एकजुट हो जाएं मोदी जी हराने का काम करें।

“थके हुए मुख्यमंत्री को हमने दौड़ाया है”

सदन में आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा कि हमने कहा था कि अगर हम आपके साथ आएंगे तो आप विश्वास दिलाइए कि हमारे 10 लाख नौकरी वाले वादा को पूरा करेंगे। उसके बाद सीएम ने कहा कि वित्त सचिव जा रहे हैं। वो आपको एक्सप्लेन कर देंगे। वो हमें फाइल दिखाते हैं कि कैसे होगा। हमने बोल दिया किसी भी हालत में ये काम हमें करना है। आपने असंभव बोला था, लेकिन हमने 17 महीने में काम करके दिखाया। तेजस्वी ने आगे कहा कि जो थके हुए मुख्यमंत्री थे, उनको हमने दौड़ाने का काम कराया है।

“जेडीयू विधायक जनता के बीच क्या जवाब देंगे?”

तेजस्वी ने आगे कहा कि बिहार के हित और तरक्की के लिए सरकरा में स्थिरता जब तक नहीं रहेगी, तब तक विकास संभव नहीं है। हमें पीड़ा होती है जेडीयू विधायकों के प्रति कि जब जनता के बीच जाएंगे तो जवाब कैस देंगे। अब आपसे कोई पूछेगा कि नीतीश जी ने तीन-तीन बार शपथ ली तो क्या बोलेंगे। तेजस्वी ने कहा कि हम तो कहेंगे कि हमने नौकरियां दी हैं।