बिहार के सभी थानों में होगा महिला हेल्प डेस्क, सीआईडी ने दिया निर्देश

फरियाद लेकर थाने पहुंचने वाली महिलाओं को दिक्कत नहीं होगी। एफआईआर दर्ज करानी हो या फिर सनहा, थाना में किसी तरह का कोई काम होने पर महिला पुलिसकर्मी उनकी मदद करेंगी। जरूरी हुआ तो उन्हें कानूनी पहलुओं से भी अवगत कराया जाएगा। बिहार के सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। जल्द यह मूर्त रूप ले लेगा।

अपराध अनुसंधान विभाग की पहल
अपराध अनुसंधान विभाग के अधीन कमजोर वर्ग आता है। यह महिलाओं, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के अलावा वरीय नागरिकों की समस्याओं पर विशेष रूप से काम करता है। थाना पहुंचने पर महिलाओं को किसी तरह की दिक्कत न हो इसके लिए सीआईडी द्वारा सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाने का निर्देश दिया गया है।

हेल्प डेस्क पर महिला पुलिसकर्मी रहेंगी
थाना स्तर पर महिलाओं की मदद के लिए बननेवाले हेल्प डेस्क पर महिला पुलिसकर्मी की तैनाती होगी। जो महिलाएं फरियाद के लिए थाना पहुंचती हैं, उनसे बात करेगी। साथ ही समस्या के समाधान के लिए पहल करना भी महिला पुलिसकर्मी की जिम्मेदारी होगी। यदि जरूरत पड़ी तो उन्हें थाना प्रभारी के पास ले जाएंगी।

बिहार में हैं 1064 थाना
बिहार में 1064 थाना हैं। इसके अलावा 225 आउट पोस्ट (ओपी) भी कार्यरत है।

Leave a Reply