TOP NEWS

असम की तरह सुप्रीम कोर्ट के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर जरूरी

असम की तरह सुप्रीम कोर्ट के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर जरूरी घंटाघर स्थित शहीद भगत सिंह चौक से खलीफाबाग होते हुए स्टेशन से लौटे वापस, पैदल चले भाजपाई असम की तरह पूरे देश में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर बनाने व घुसपैठियों को देश से निकालने की बात को लेकर शुक्रवार को भाजपा के सभी मंडलों ने घंटाघर चौक से जागरूकता रैली निकाली। रैली खलीफाबाग चौक होते हुए वेराइटी चौक, स्टेशन चौक, कोतवाली चौक होकर वापस घंटाघर में समाप्त हुई। इस मौके पर वरिष्ठ नेता हरिवंश मणि सिंह ने कहा कि घुसपैठियों से देश की सुरक्षा, एकता व अखंडता पर खतरा है। असम के तीन करोड़ 20 लाख की जनसंख्या में 40 लाख घुसपैठिये की पहचान हो जाए तो यह संख्या और बढ़ जाएगी। बिहार के किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, दरभंगा, मधुबनी व अन्य जिलों में जनसंख्या असंतुलित हो गई है। घुसपैठिए देश के नागरिकों का मार रहे हैं हक घुसपैठिए देश पर आर्थिक बोझ बढ़ा रहे हैं। वे नागरिकों का हक मार रहे हैं। इसलिए असम की तरह सर्वोच्च न्यायालय के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर बनना जरूरी है। विपक्षी पार्टियाें से जुड़े कुछ राजनीतिक दल वोट बैंक के लिए घुसपैठियों का समर्थन कर रही है। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष संजय निराला, मेयर सीमा साहा, जिप अध्यक्ष टुनटुन साह, पूर्व डिप्टी मेयर डॉ. प्रीति शेखर, नभय कुमार चौधरी, अशोक गुप्ता, सुरेंद्र मंडल, हेमंत भगत, संतोष कुमार, प्रो. किरण सिंह, विजय कुशवाहा, राजीव तिवारी, संदीप शर्मा, मोंटी जोशी, दिनेश मंडल, सज्जन अवस्थी, राजकिशोर गुप्ता, प्रणव दास, श्वेता सिंह, लक्ष्मी सिंह, जिया गोस्वामी, आलोक बंटू समेत अन्य मौजूद थे। इधर, बीमार जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय ने कार्यकर्ताओं से फोन पर बात कर रैली में शामिल होने की अपील की

 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *