All posts by Shailesh Kumar

मार्केट में आया Activa का नया स्कूटर, जानें कितनी कीमत में आप ला सकेंगे घर

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) ने मंगलवार को अपने स्कूटर एक्टिवा 125 का नया वर्जन पेश किया है। दिल्ली में इसकी शोरूम कीमत 78,920 रुपये है। एचएमएसआई के प्रबंध निदेशक, अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अत्सुशी ओगाता ने एक बयान में कहा कि 2023 एक्टिवा 125 अप्रैल से लागू होने जा रहे नए उत्सर्जन मानकों को पूरा करता है। यह स्कूटर सख्त उत्सर्जन मानक वाले इंजन के साथ उतारा गया है। उन्होंने कहा कि इस नए मॉडल के साथ हमने यह सुनिश्चित किया है कि हमारे ग्राहक नए मानकों पर खरा उतरने के साथ एक बेहतर अनुभव भी प्राप्त कर सकें।

Activa H-Smart की कीमत

एक्टिवा के नए वैरिएंट की कीमत 80,537 रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) बताई जा रही है। हालांकि इसका इसके स्टैंडर्ड वैरिएंट को आप 74,536 रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) में खरीद सकेंगे। स्कूटर के डीलक्स वैरिएंट का प्राइस 77,036 रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) है।

होन्डा एक्टिवा H-Smart के कलर्स

2023 एक्टिवा H-Smart और इसके दो अन्य वैरिएंट छह अलग-अलग कलर्स के साथ आते हैं। इसमें पर्स सिरेन ब्लू, डीसेंट ब्लू मैटेलिक, रीबेल रेड मैटेलिक, ब्लैक, पर्स प्रीशियस व्हाइट और मैटे एक्सिस ग्रे मैटेलिक जैसे आकर्षक कलर वैरिएंट शामिल हैं।

होंडा एक्टिवा स्मार्ट की फीचर

होंडा की यह नई एक्टिवा अब स्मार्ट की फीचर के साथ आती है। स्मार्ट की की मदद से आप स्कूटर को लोकेट, लॉक या अनलॉक कर सकते हो। आप फिजिकल की के बिना स्मार्ट की के जरिए इसे आसानी से स्टार्ट कर सकेंगे। स्मार्ट की में इमोब्लाइजर सिस्टम भी दिया गया है, जो इंजन को स्टार्ट करने के लिए नॉन रजिस्टर्ड की के झंझट को खत्म करता है।नई एक्टिवा में LED हेडलैम्प, पासिंग स्विच, इंजन स्टार्ट/ स्टॉप स्विच, डबल-लिड फ्यूल ओपनिंग सिस्टम, 5 इन 1 क्लॉक, नए एलॉय व्हील के साथ फ्यूल की बचत करने वाले टायर्स दिए गए हैं। होंडा ने ये टायर्स रोड ग्रिप को बेहतर बनाने के लिए नई टायर कम्पाउंड टेक्नोलॉजी के साथ डिजाइन किए हैं।

Activa H-Smart की स्पेसिफिकेशन

नए एक्टिवा स्कूट में 109.51cc का PGM-Fi, 4-stroke SI इंजन दिया गया है, जो 7।74hp की अधिकतम पावर के साथ 8.90Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इसमें ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन सिस्टम भी दिया गया है।

सालों बाद शिक्षिका से मिलने गए कलेक्टर साहब, टीचर से कहा- जैसे स्कूल में छड़ी से मारती थीं वैसे ही मारिए

एक बच्चे का भविष्य सवांरने में सबसे बड़ा हाथ उसके माता-पिता और गुरु का होता है। गुरु और शिष्य का रिश्ता भी बहुत अनमोल होता है। जब कोई टीचर अपने स्टूडेंट पर मेहनत करता है तो वह यहीं सोचता है कि इस बच्चे का भविष्य सुनहरा हो और अगर मेरी किस्मत में हुआ तो मैं इसे दुनिया की हर सफलता को पाते हुए देखूं। वहीं शिष्य अपने जीवन में अपने गुरु को कभी नहीं भूलता क्योंकि उसे पता होता है कि आज वह जो कुछ भी है सिर्फ अपने टीचरों के मार, प्यार और शिक्षा की वजह से है।

सालों बाद टीचर से मिलने पहुंचे कलेक्टर साहब

हाल में ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायहर हो रहा है। जिसमें एक कलेक्टर कई दिनों बाद अपने शिक्षिका के घर पहुंचे और उनके साथ उनके सहपाठी भी टीचर के घर पहुंचे। अपने पढ़ाए हुए बच्चों को इतने बड़े-बड़े पदों पर आसीन देखकर टीचर के आखों में आंसू आ जाते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि जैसे उनकी जिंदगी सफल हो गई है। टीचर के घर में खुशी का जबरदस्त माहौल रहता है। सभी लोग बहुत खुश नजर आ रहे हैं।

“मैम आज फिर से वैसे ही मारिए जैसे स्कूल में मारती थीं”

ऐसे में कलेक्टर स्टूडेंट अपनी अध्यापिका से हाथ पर डंडे से मारने का आग्रह करते हैं और कहते हैं कि आप जैसे स्कूल में मारती थीं वैसे ही मारिए मैम क्योंकि आज मैं जो कुछ भी हूं सिर्फ आपकी उस मार की वजह से हूं। आज मैं कलेक्टर हूं तो आपके डंडे की मार की वजह से हूं। इसके बाद टीचर छड़ी से कलेक्टर स्टूडेंट को मारती हैं। कलेक्टर साहब की आंखों में खुशी के मारे आंसू आ जाते हैं और वह झुककर तुरंत अपनी शिक्षिका के पैर छूते हैं।

यूजर्स को याद आएं अपने टीचर्स

इस वीडियो को ट्विटर पर @DrMansiDwivedi3 नाम की यूजर में अपने अकाउंट से शेयर किया है। खबर लिखे जाने तक इस वीडियो को 55 हजार व्यूज और 2 हजार लाइक्स मिल चुके हैं। वीडियो देखने के बाद यबजर्स को भी अपने स्कूल के टीचरों की याद आ गई और वे लोग भी अपने स्कूल के दिनों की यादों को कमेंट कर शेयर करते हुए नजर आएं। एक यूजर ने लिखा- हमलोग के समय में इतनी कुटाई की मत पुछिए , घर शिकायत करने पर उल्टा और मारने का आदेश मिल जाता था अध्यापक को, जिसके डर से हमें घर पर दोबारा कहने की हिम्मत नही होती थी। आजकल तो FIR हो जा रहा है अध्यापक के ऊपर जो बहुत ही निंदनीय है। वहीं दूसरे यूजर ने लिखा- ये गुरुजी का अपनापन व आशीर्वाद होता है। आज की पीढी इस आशीर्वाद और अपनापन की मोहताज है। कोई हमसे पूछे… इस अपनापन और आशीर्वाद की मिठास।

लिव-इन-रिलेशन और मर्डर की वारदात, बंद कमरे में रजाई में लिपटी मिली खूबसूरत महिला की लाश

जालंधर के संतोखपुरा से बड़ी ख़बर सामने आई है। जहां बंद कमर में रजाई में लिपटा एक खूबसूरत महिला का शव बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि महिला एक शादीशुदा युवक के साथ लिव-इन रिलेशन में रहती थी।  महिला के साथ रहने वाला विनोद फिलहाल फरार बताया गया है। महिला की मौत कैसे हुई, फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है। परिवार वालों ने बताया कि मंगलवार की दोपहर मृतक महिला की बहन और बहनोई दोनो संतोखपुरा स्थित उसके घर पहुंचे तो घर के भीतर से बदबू आ रही थी। जब गेट फांद कर देखा तो महिला का शव रजाई में लिपटा हुआ पड़ा हुआ था। इसकी सूचना तुरंत उसके साथ रह रहे युवक विनोद के परिजनों और पुलिस को दी गई।

दोनों शादी शुदा युवक-युवती रहते थे साथ

जानकारी के मुताबिक लिव इन में रहने वाले दोनों महिला और पुरुष पहले से शादीशुदा थे। महिला का तलाक हो चुका था तो वहीं साथ रह रहे विनोद का अपनी पत्नी से तलाक नहीं हुआ था। दोनों का एक बच्चा भी है। महिला के बहनोई के मुताबिक मृतका की शादी हुई थी, लेकिन उसका अपने पति से तलाक हो गया था। उसके बाद वह विनोद वासी धोगड़ी के साथ रिलेशन में आई थी। दोनों पिछले लगभग दो साल से संतोखपुरा में एक साथ रह रहे थे लेकिन  दोनों की शादी नहीं हुई थी। वे दोनों शादी करवाना चाहते थे, लेकिन  विनोद का तलाक नहीं हुआ था इसलिए दोनों ने शादी नहीं की थी।

मृतका  के परिजनों ने बताया कि विनोद कुछ दिन पहले अपने बच्चे को साथ रह रही महिला के परिवार के घर छोड़ गया था जिसके बाद उसका और महिला दोनों का फोन बंद आ रहा था। जब इसकी जानकारी लेने बहन-बहनोई मंगलवार की दोपहर यहां पहुंचे तो ये घटना सामने आई है।

तहकीकात कर रही पुलिस 

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे विनोद के पिता के मुताबिक विनोद की पत्नी और बच्चा धौगड़ी में रहते हैं। जबकि विनोद परिवार को छोड़ कर यहां संतोखपुरा में महिला के साथ रह रहा था। पुलिस की जांच में सामने आया है कि इस घर में दोनो किराए पर रहते थे और घर का मालिक हिमाचल प्रदेश में रहता है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के पश्चात ही सही तथ्य सामने आएंगे। पुलिस द्वारा घर को सील कर दिया गया है। फिलहाल किसी को भी घर के भीतर नहीं जाने दिया जा रहा। पुलिस तहकीकात में लगी है।

PS-2: सिंहासन के लिए होगा महायुद्ध, ऐश्वर्या राय ने बताया कब रिलीज होगा फिल्म का ट्रेलर

दिग्गज डायरेक्टर मणिरत्नम (Mani Ratnam) की मच अवेटेड फिल्म ‘पोन्नियन सेल्वन 2’ (Ponniyin Selvan 2) के ट्रेलर रिलीज की डेट आ गई है। फिल्म की एक्ट्रेस ऐश्वर्या राय बच्चन (Aishwarya Rai Bachchan) ने इंस्टाग्राम पर फिल्म के ट्रेलर रिलीज की डेट के साथ नया पोस्टर भी शेयर किया है। मणिरत्नम की फिल्म ‘पोन्नियन सेल्वन-1’ की रिलीज के बाद से ही दर्शक इसके दूसरे पार्ट का इंतजार करने लगे थे। जहां पहली फिल्म की कहानी खत्म हुई थी, अब वहीं से अगली फिल्म की कहानी आगे बढ़ाई जाएगी। एक बार फिर सिंहासन के लिए महायुद्ध देखने को मिलने वाला है।

‘पोन्नियन सेल्वन 2’ ट्रेलर रिलीज डेट

इंस्टाग्राम पर फिल्म ‘पोन्नियन सेल्वन 2’ (Ponniyin Selvan 2) का पोस्टर शेयर करते हुए ऐश्वर्या राय ने लिखा, ‘उनकी आँखों में आग। उनके दिलों में प्यार। उनकी तलवारों पर खून। सिंहासन के लिए लड़ने के लिए चोल वापस आएंगे।’ मणिरत्नम (Mani Ratnam) ने अपनी इस फिल्म के पहले पार्ट में चोल शासकों की कहानी दिखाई थी। फिल्म का ट्रेलर कल यानी 29 मार्च को रिलीज होने वाला है। फिल्म ‘पोन्नियन सेल्वन 1’ (Ponniyin Selvan 1) साल 2022 की सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक रही रही थी। इस फिल्म में चियान विक्रम, ऐश्वर्या राय बच्चन और कार्थी ने अपने दमदार अभिनय का परिचय दिया है। फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा रिस्पॉन्स मिला था।

फिल्म में ऐश्वर्या का डबल रोल

फिल्म ‘पोन्नियन सेल्वन 1’ (Ponniyin Selvan 1) में ऐश्वर्या ने डबर रोल निभाया था। हालांकि ये बाद फिल्म के क्लाइमैक्स में पता चली थी। अब देखना होगा कि इसके दूसरे पार्ट में ऐश्वर्या राय का किरदार दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब हो पाता है या नहीं। अगर आपने इसके पहले पार्ट को अब तक नहीं देखा है तो अमेजन प्राइम वीडियो पर इसे देख सकते हैं।

अडानी के शेयर में निवेश करने वाले पढ़ लें समूह का ये लेटर, आज शेयर पर पड़ सकता है असर

अडाणी समूह के मुख्य वित्त अधिकारी जुगशिंदर रॉबी सिंह ने मंगलवार को कहा कि शेयर बाजार प्रवर्तक के गिरवी रखे शेयर के बारे में आंकड़े तिमाही समाप्त होने के बाद अद्यतन करेंगे उसके बाद चीजें खुद-ब-खुद साफ हो जाएगी। उन्होंने मौजूदा आंकड़े के समूह के बयान से मेल नहीं खाने के बारे में स्थिति स्पष्ट करते हुए यह बात कही। समूह ने बयान में कहा है कि उसने शेयर के आधार पर लिये गये सभी 2.15 अरब डॉलर के कर्ज का भुगतान कर दिया है। सिंह ने उन रिपोर्ट में जानबूझकर गलत बयान देने की बात कही जिसमें कहा गया है कि कंपनी के सात मार्च और 12 मार्च की घोषणा शेयर बाजारों में उपलब्ध सूचना से मेल नहीं खाती है।

आंकड़े तिमाही के अंत में होंगे अपडेट

उन्हें पता है कि संबंधित शेयर बाजार प्रवर्तक के गिरवी रखे शेयर के बारे में आंकड़े तिमाही के अंत में अपडेट करेंगे। कुछ रिपोर्ट में जानबूझकर गलत बयान दिये गये हैं, शेयर बाजार में तिमाही के अंत में आंकड़े अद्यतन करने के बाद सभी के लिये चीजें साफ हो जाएंगी। अडाणी समूह ने 12 मार्च को कहा था कि उसने शेयर गिरवी रखकर लिये गये 2.15 अरब डॉलर का कर्ज लौटा दिया है। ये कर्ज प्रवर्तकों के शेयर गिरवी रखकर लिया गया था। उसने कहा था कि कर्ज समयसीमा 31 मार्च, 2023 से पहले लौटाये गये हैं। हालांकि, विभिन्न रिपोर्ट में कहा गया है कि शेयर बाजारों को दी गयी सूचना के अनुसार समूह की कंपनियों अडाणी पोर्ट्स एंड सेज, अडाणी ट्रांसमिशन, अडाणी ग्रीन एनर्जी और अडाणी एंटरप्राइजेज के शेयर अब भी वित्तीय संस्थानों के पास गिरवी हैं।

इसके बारे में सिंह ने कहा कि यह कुछ और नहीं बल्कि जानबूझकर गलत बयान देने का मामला है। उन्होंने कहा कि मौजूदा तिमाही 31 मार्च को खत्म होगी और उसके बाद शेयर बाजार आंकड़े अद्यतन करेगा, उससे चीजें साफ हो जाएंगी।

आखिरकार पाकिस्तान ने मान ली भारत की बात! चीन और रूस भी दे सकते हैं साथ; पढ़े पूरी रिपोर्ट

ना-नुकर के बाद आखिरकार पाकिस्तान ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की आगामी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बैठक में भाग लेने का फैसला कर लिया है, जिसे भारत द्वारा आयोजित किया जा रहा है। एक सूत्र ने कहा, भागीदारी के तरीके को अभी तक अंतिम रूप नहीं दिया गया है। बता दें कि 29 मार्च को, भारत राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में एससीओ के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों (एनएसए) और शीर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों की बैठकों की मेजबानी करेगा। एससीओ में आठ सदस्य देश शामिल हैं – चीन, भारत, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान।

बैठक में भाग लेंगे पाकिस्तान के प्रतिनिधि

एनएसए अजीत डोभाल के बुधवार को शुरू होने वाली एससीओ एनएसए स्तर की बैठक से पहले प्रारंभिक बयान देने की संभावना है। सूत्रों ने बताया कि बैठक में पाकिस्तान के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे। इससे पहले पाकिस्तान ने ‘काशी’ (वाराणसी) में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) पर्यटन प्रशासन के प्रमुखों की बैठक में भी भाग लिया था। उस समय केंद्रीय पर्यटन, संस्कृति और उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास मंत्री जी किशन रेड्डी ने एससीओ बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में ‘एससीओ अंतरिक्ष में पर्यटन विकास वर्ष 2023’ की कार्य योजना को भी अपनाया गया।

भारत में रक्षा और विदेश मंत्रियों की शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठकों में भाग लेने के लिए इन-हाउस परामर्श शुरू कर दिया है क्योंकि नई दिल्ली ने पहले ही रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ और विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी को निमंत्रण दिया है। रक्षा मंत्रियों की बैठक अप्रैल में नई दिल्ली में निर्धारित है जबकि विदेश मंत्रियों की बैठक मई में गोवा में होगी।

भारत आठ देशों के एससीओ का वर्तमान अध्यक्ष है, जो कार्यक्रमों की एक श्रृंखला आयोजित कर रहा है। ट्रिब्यून ने बताया कि एक घटना को छोड़कर, जहां पाकिस्तान को एक मानचित्र विवाद पर प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। इस्लामाबाद ने वीडियो लिंक के माध्यम से मुख्य न्यायाधीशों के सम्मेलन और ऊर्जा मंत्रियों की बैठक सहित अन्य सभी कार्यक्रमों में भाग लिया है।

भारत ने 21 मार्च को नई दिल्ली में आयोजित सैन्य चिकित्सा, स्वास्थ्य देखभाल और महामारी में सशस्त्र बलों के योगदान पर शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की संगोष्ठी में पाकिस्तान की भागीदारी से इनकार किया था। भारत ने पाकिस्तानी पक्ष द्वारा इस्तेमाल किए गए नक्शे पर आपत्ति जताई, जिसमें जम्मू और कश्मीर को अपना क्षेत्र दिखाया गया था। मामला विदेश मंत्रालय (MEA) के संज्ञान में आने के बाद, पाकिस्तान पक्ष को “सही नक्शा” दिखाने या संगोष्ठी से दूर रहने के लिए कहा गया।ट्रिब्यून ने बताया कि पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने दूर रहने का विकल्प चुना जबकि इस्लामाबाद में पाकिस्तानी मीडिया सूत्रों ने कहा कि भारत ने प्रभावी रूप से निमंत्रण वापस ले लिया।

भारत आने के इच्छुक हैं पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो

ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, एक ब्रिगेडियर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय पाकिस्तानी सैन्य प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को नई दिल्ली में व्यक्तिगत रूप से रक्षा मंत्रियों की परिषद के तहत एक विशेषज्ञ कार्य समूह की बैठक में भाग लिया।

सूत्रों ने कहा कि विदेश मंत्री बिलावल एससीओ की बैठक के लिए भारत जाने के इच्छुक हैं। अगर पाकिस्तान रक्षा और विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होता है तो मुमकिन है कि जुलाई में एससीओ शिखर सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ भी भारत जा सकते हैं।

शरद पवार ने राहुल गांधी को समझाया-नरमी बरतिए, सावरकर RSS नहीं

केंद्र की मौदी सरकार और राहुल गांधी की सांसदी खत्म किए जाने के खिलाफ विपक्ष ने गोलबंदी शुरू की है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा वी डी सावरकर की तीखी आलोचना करने को लेकर महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (एमवीए) गठबंधन में तनातनी जारी है। इस तनाव के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने इस मामले में हस्तक्षेप करके कांग्रेस नेतृत्व को इस मुद्दे पर शिवसेना की नाराजगी की वजह बताई  है। इसके बाद विपक्षी नेताओं ने कहा कि कांग्रेस सावरकर की आलोचना के मामले में अपना रुख नरम करने पर सहमत हो गई है। पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी की सावरकर की आलोचना की वजह से महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी गठबंधन में शामिल राकांपा और शिवसेना उद्धव गुट असहज महसूस कर रहे हैं।

संजय राउत का बड़ा बयान-एमवीए अटूट है, गलतफहमी ना पालें

शिवसेना (यूबीटी) के नेता संजय राउत ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी के साथ अपनी बातचीत में सावरकर मुद्दे को उठाया था और एमवीए सहयोगियों के बीच इस मामले पर सहमति बन गई है। राउत ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘एमवीए गठबंधन बरकरार है। यदि किसी को लगता है कि एमवीए टूट जाएगा, तो उनका ये सोचना गलत है।’’

कहा जा रहा है कि राहुल गांधी ने राउत को आश्वासन दिया है कि वह सावरकर को लेकर अब कोई भी आलोचनात्मक बातें करने से बचेंगे। बैठक में शामिल दो नेताओं ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि शरद पवार ने सोमवार को खरगे द्वारा बुलाई गई विपक्षी नेताओं की बैठक के दौरान यह मुद्दा उठाया और स्पष्ट किया कि सावरकर को निशाना बनाने से एमवीए को कोई लाभ नहीं होगा। बैठक में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी मौजूद थे।

विपक्षी सदस्यों ने कहा-हमारी लड़ाई पीएम मोदी से है, सावरकर से नहीं

शिवसेना के ठाकरे गुट के सांसदों की एक बैठक के बाद राउत ने कहा, ‘‘लगभग सभी विपक्षी नेताओं का विचार था कि सावरकर के मुद्दे को उठाने की कोई जरूरत नहीं है। हमें यह तय करना होगा कि हमें मोदी से लड़ना है या सावरकर से और भ्रम उत्पन्न नहीं करना है।’’ पवार ने राहुल गांधी को यह भी बताया कि सावरकर कभी भी आरएसएस के सदस्य नहीं थे और विपक्षी दलों की असली लड़ाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ है। विपक्षी नेताओं ने कहा कि राहुल ने बैठक में कहा कि सावरकर का मुद्दा एक वैचारिक रुख है।

शिवसेना उद्धव गुट ने राहुल पर किया था वार

तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, भारत राष्ट्र समिति के नेताओं ने भी शिवसेना के ठाकरे गुट के साथ इस मुद्दे का सम्पर्क किया। भाजपा ने राहुल गांधी पर ब्रिटेन के दौरे के दौरान भारत को ‘बदनाम’ करने का आरोप लगाया है और उनसे माफी की मांग की है। लोकसभा के पूर्व सदस्य गांधी ने कहा था कि वह सावरकर नहीं हैं और माफी नहीं मांगेंगे। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सावरकर पर हमले के लिए राहुल गांधी की आलोचना की थी और कहा था कि उनकी पार्टी स्वतंत्रता सेनानी का अपमान बर्दाश्त नहीं करेगी। शिवसेना का उद्धव ठाकरे गुट सावरकर को लेकर राहुल गांधी की टिप्पणी के विरोध स्वरूप खरगे की ओर से बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं हुआ था।

फिर खौफ में आया अतीक अहमद! वापस ले जाया जाएगा गुजरात की साबरमती जेल

उमेश पाल अपहरण केस में अतीक अहमद को उम्रकैद की सजा होने के बाद माफिया अतीक अहमद फिर से खौफ में आ गया है। प्रयागराज पुलिस उसे वापस गुजरात की साबरमती जेल ले जाया जाएगा। नैनी जेल के अधिकारियों के अनुसार माफिया को केवल इसी केस की सुनवाई के लिए प्रयागराज लाया गया था। अब इस मामले में उसे सजा हो गई है, इसके बाद उसे वापस साबरमती जेल भेज दिया जाएगा। इसके साथ ही उसके भाई अशरफ को भी बरेली जेल में वापस भेजा जाएगा।

अतीक समेत तीन दोषियों को हुई आजीवन कारावास 

वहीं इससे पहले प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया। कोर्ट ने पहले माफिया अतीक अहमद समेत तीन आरोपियों को दोषी करार दिया। इसके कुछ देर बार सभी दोषियों को आजीवन करावास की सजा सुनाई गई। अतीक अहमद समेत सभी आरोपियों को 17 साल पुराने उमेश पाल अपहरण कांड में आजीवन कारवास की सजा सुनाई गई है। वहीं, अतीक अहमद के भाई अशरफ अहमद समेत सात आरोपियों को निर्दोष करार दिया गया।

एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया

अतीक अहमद समेत तीनों दोषियों पर उम्रकैद की सजा सुनाते हुए कोर्ट ने उन पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। यह जुर्माना उमेश पाल के परिवार वालों को दिया जाएगा। अतीक के अलावा हनीफ और दिनेश को भी उम्रकैद की सजा मिली है। अतीक अहमद को 43 साल में पहली बार सजा मिली है। अतीक पर अब तक 100 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। राजनीतिक संरक्षण और बाहुबल की वजह से अतीक सजा पाने से बचता रहा है।

नकली दवाएं बनाने वाली कंपनियों के खिलाफ सरकार ने लिया बड़ा एक्शन, 18 के लाइसेंस रद्द

सरकार ने नकली दवाएं बनाने वाली कंपनियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। इस कार्रवाई के तहत 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) द्वारा 20 राज्यों की 76 कंपनियों के निरीक्षण के बाद सरकार ने मंगलवार को नकली दवाओं के निर्माण के लिए 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस रद्द कर दिए। सूत्रों ने कहा कि नकली दवाओं के निर्माण से जुड़ी देशभर की कई फार्मा कंपनियों के खिलाफ भारी कार्रवाई की जा रही है।

ऐसा पहली बार नहीं है जब दवा बनाने वाली कंपनियां सवालों के घेरे में हों। इससे पहले भी इन पर सवाल उठ चुके हैं। दवाओं की क्वालिटी या फिर नकली दवा का ये कारोबार काफी फैला है। तमिलनाडु स्थित ग्लोबल फार्मा हेल्थकेयर ने फरवरी में अमेरिका में दृष्टि हानि से कथित रूप से जुड़े अपने सभी आई ड्रॉप को वापस लिया था। इसके अलावा भारत निर्मित एक कफ सीरप भी बीते साल गाम्बिया और उज्बेकिस्तान में बच्चों की मौत की वजह से चर्चा में आया था।

कुछ दलों ने मिलकर भ्रष्टाचारी बचाओ अभियान चलाया हुआ है: PM मोदी

पीएम मोदी बीजेपी मुख्यालय पहुंच गए हैं। उन्होंने यहां बीजेपी के कार्यकर्ताओं को एक खास तोहफा दिया और एक नई बिल्डिंग का उद्घाटन किया। दरअसल बीजेपी मुख्‍यालय के पास एक नया रेज‍िडेंश‍ियल कॉम्प्लेक्स और ऑडिटोरियम बनाया गया है। इस कॉम्‍प्‍लेक्‍स में बीजेपी के संगठन महासच‍िव और मंत्री स्‍तर के नेताओं के ठहरने की सुव‍िधा उपलब्‍ध होगी। ऑड‍िटोर‍ियम में पार्टी की बड़ी मीट‍िंग्‍स होंगी। इसी नई बिल्डिंग का प्रधानमंत्री मोदी ने उद्घाटन किया। पीएम मोदी ने कहा कि इस कार्यालय का विस्तार एक केवल भवन का विस्तार नहीं है, बल्कि ये प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता के सपनों का विस्तार है। मैं पार्टी के कोटि-कोटि कार्यकर्ताओं के चरणों में प्रणाम करता हूं। मैं पार्टी के सभी संस्थापक सदस्यों का भी सिर झुकाकर नमन करता हूं।

पार्टी के कार्यकर्ता ही संगठन की आत्मा – पीएम मोदी 

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस कार्यक्रम में मौजूद कार्यकर्ताओं और पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता ही इस कार्यालय और संगठन की आत्मा हैं। उन्होंने कहा कि कुछ समय बाद हम अपनी पार्टी का 44वां स्थापना दिवस मनाएंगे। यह यात्रा हमारे देश के लिए काम करने की यात्रा है। यह यात्रा हमारे विचार की यात्रा है। ये यात्रा एक अनथक और अनवरत यात्रा है, ये यात्रा परिश्रम की पराकाष्ठा की यात्रा है, ये यात्रा समर्पण और संकल्पों की शिखर की यात्रा है, ये यात्रा विचार और विचारधारा के विस्तार की यात्रा है। पीएम मोदी ने कहा कि जब हम जनसंघ के रूप में जाने जाते थे तब हमारी पहचान एक छोटी पार्टी लेकिन बड़े सपने देखने वालों के रूप जाना जाता था।

कभी हमारे केवल 2 सांसद ही होते थे – नरेंद्र मोदी 

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 43 वर्षों में पार्टी ने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं। उन्होंने कहा कि आपातकाल के बाद कांग्रेस की हार हुई, लेकिन 1984 के बाद कांग्रेस की जबरदस्त वापसी हुई और हमारा लगभग सफाया ही हो गया। इसके बाद भी हमने हार नहीं मानी। हम फिर से जनता के बीच में गए और हमने मेहनत की और आज उसका परिणाम क्या है यह हम सभी जानते हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा में कभी हमारे केवल 2 ही सांसद हुआ करते थे और आज सदन में हमारा प्रचंड बहुमत है। आज कई राज्यों में हमें 50% से ज्यादा वोट मिलते हैं। आज उत्तर से दक्षिण तक.. पूरब से पश्चिम तक, भाजपा एकमात्र पैन इंडिया पार्टी है।

बीजेपी में कार्यकर्ताओं को दी जाती है प्राथमिकता – पीएम मोदी 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज कुछ दल एक परिवार तक ही सीमित रह गए हैं। कुछ दल परिवार के द्वारा चलाए जा रहे हैं। परिवार के लिए सब कुछ करने को उतारू हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ऐसी नहीं है। यहां देश और समाज सबसे ऊपर रखा जाता है। यहां कार्यकर्ताओं को प्राथमिकता दी जाती है। यहां युवाओं को आगे बढ़ाया जाता है। यहां योग्यता को उसका मुकाम दिया जाता है।

पार्टी में महिलाओं और युवाओं को बढ़ाया जा रहा आगे – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी एकमात्र ऐसी पार्टी है जहां महिलाओं, युवाओं और नए चेहरों को आगे लाने के लिए पार्टी में संविधानिक व्यवस्था की गई हो। बीजेपी में हर बदलाव के दौरान 25 प्रतिशत पदाधिकारी नए होते हैं। उन्होंने कहा कि आज कार्यकर्ताओं की मेहनत से ही आज हम सत्ता में हैं लेकिन सत्ता में होने के बावजूद हमारे कार्यकर्ता ऐसी मेहनत कर रहे हैं जैसे 1980 में किया करते थे। भले ही आज हम सत्ता में हों लेकिन हमारी जड़ें आज भी जमीन से जुड़ी हुई हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आज बीजेपी में नए कार्यकर्ताओं को गढ़ा जाता है। इससे पार्टी के साथ-साथ देश का भविष्य मजबूत हो रहा है।

कुछ लोग भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए एक मंच पर आ रहे – पीएम मोदी 

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश विकास कर रहा है। लोगों का जीवन आसान हो रहा है और इसीलिए भारत विरोधी लोग एकजुट हो रहे हैं। उनसे देश का विकास देखा नहीं जा रहा है। दुनियाभर में कई लोग इससे चिढ़े हुए हैं और देश के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि आज कुछ लोग भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए अभियान चला रहे हैं। उनके खिलाफ एजेंसियां कार्रवाई करती हैं तो वह उनपर हमले बोल रहे हैं। न्यायालय उनके खिलाफ फैसला सुनाता है तो वे न्यायालय पर हमला बोलते हैं। अब कुछ लोग भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए एक मंच पर आ रहे हैं।

देशभर के 499 जिलों में बने नए दफ्तर – जेपी नड्डा 

इस कार्यक्रम में बोलते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में देशभर के 499 जिलों में पार्टी के नए दफ्तर बने हैं। हमारी पार्टी देशभर में तेजी से विस्तार कर रही है। यह विस्तार हमारे कार्यकर्ताओं के की मेहनत और लगन के बिना असम्भव था। उनके विश्वास और खून-पसीने की मेहनत से आज हम इस मुकाम पर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि साल 2014 में पीएम मोदी ने नया दफ्तर बनाए की बात कही थी।

पार्टी की एक भी मीटिंग पीएम आवास पर नहीं हुईं – जेपी नड्डा 

जेपी नड्डा ने कहा कि आज तक पीएम आवास पर पार्टी से जुड़ी हुई एक भी बैठक नहीं हुई है। पीएम एक आम कार्यकर्ता की तरह पार्टी के मुख्यालय आते हैं और सभी बैठकों में यहीं हिस्सा लेते हैं। यह दिखाता है कि वे पार्टी के एक कार्यकर्ता और देश के प्रधानमंत्री के कर्तव्यों का कितने बेहतर ढंग से निर्वहन कर रहे हैं।

आसमान को देखिए-चमकीले ग्रह परेड करते दिखेंगे, आज नहीं देखा तो फिर एक दशक करना होगा इंतजार

Planetary Alignment यानी ‘ग्रहों का संरेखण’ जिसमें पांच चमकीले ग्रह मंगलवार को एक साथ आसमान में परेड करते दिख रहे हैं। अबतक नहीं देखा तो देखिए ये अजूबा और दिलचस्प घटना , ज देखने वालों को मंत्रमुग्ध कर देगी। ये पांच ग्रह एक चाप यानी आसमान में एक आर्क का निर्माण करेंगे। इन ग्रहों में बृहस्पति, बुध, शुक्र, अरुण और मंगल ग्रह एक साथ एक ही दिशा में रात के आकाश में दिखाई देंगे। पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत के लोग इस अनोखे आकाशीय दृश्य का आनंद लेंगे, मगर उत्तर, पश्चिम और दक्षिण के लोगों के लिए सभी पांच ग्रहों को देखना मुश्किल हो सकता है।

कोलकाता में एम.पी. बिड़ला तारामंडल के पूर्व निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने कहा, “सौर मंडल की हमारी समझ हमें बताती है कि ग्रह लगभग एक ही तल में सूर्य के चारों ओर घूमते हैं। इस कारण कभी-कभी वे एक चाप या आकाश में एक सीधी रेखा का रूप भी ले लेते हैं। यह मंगलवार को होने जा रहा है।”

पूर्व निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने बताया कि ये सभी ग्रह एक चाप के रूप में बिना दूरबीन के भी दिखाई देंगे। बड़ी और छोटी दूरबीन से आप चाहें तो बेहतर दृश्य को देख सकते हैं। जानकारी के मुताबिक सूर्य के अस्त होने के बाद बृहस्पति और बुध थोड़े-थोड़े अंतराल में शाम के समय आकाश में अस्त हो जाएंगे।

डॉ. दुआरी ने कहा, “चूंकि भारत में पूर्व और उत्तर-पूर्व आकाश में सूर्य जल्दी अस्त होता है, इसलिए इन स्थानों के लोगों को बृहस्पति और बुध का एक स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। इन दो ग्रहों को पश्चिमी क्षितिज पर देख सकते हैं।”

कोलकाता में सूर्यास्त आज शाम 5.50 बजे होगा, जबकि दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु में सूरज आसमान से क्रमश: शाम 6.36 बजे, शाम 6.51 बजे और शाम 6.31 बजे गायब हो जाएगा। शाम के आकाश में एक बहुत चमकीला पिंड होगा – शुक्र। छोटी दूरबीनों की सहायता से शुक्र से उत्तर दिशा की ओर अरुण (यूरेनस) ग्रह को भी देखा जा सकता है। शुक्र और यूरेनस दोनों काफी लंबे समय तक आसमान में दिखाई देते रहेंगे।

दुआरी ने बताया, “शुक्र सूर्यास्त के कम से कम दो घंटे बाद अस्त होगा वहीं मंगल रात के आसमान में आधी रात तक रहेगा। मंगल के ठीक बगल में आज रात चंद्रमा को भी देखा जा सकता है।

दुआरी के मुताबिक, आखिरी बार यह घटना 24 जून, 2022 को हुई थी। ग्रहों का संरेखण’ कोई दुर्लभ घटना नहीं है। लेकिन यह एक प्यारी घटना है और हमें ब्रह्मांड में हमारे अस्तित्व की याद दिलाती है।”

राहुल गांधी की सदस्यता जाने के बाद लोकसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी कांग्रेस

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता जाने के बाद अब कांग्रेस नई रणनीति पर काम कर रही है। कांग्रेस का प्लान है कि वह अब समूचे विपक्ष को संगठित करके संसद में शक्ति प्रदर्शन करे। इसके लिए कहा जा रहा है कि कांग्रेस लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रही है। हालांकि इसकी अभी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

विपक्षी एकता और ताकत दिखाने का मकसद 

सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी की सदस्यता रद्द होने के मुद्दे पर कांग्रेस इस नयी रणनीति पर काम कर रही है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस सांसदों की बैठक में इससे जुड़ा प्रस्ताव रखा गया था। कांग्रेस की ओर अभी तक इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। कांग्रेस इस संबंध में दूसरे विपक्षी दलों से बात कर रही है। बता दें कि लोकसभा में अकेले बीजेपी के सांसदों की संख्या 300 से ज्यादा संख्या है, जबकि कांग्रेस की संख्या 50 के करीब है। ऐसे में स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाना महज विपक्षी एकता के प्रदर्शन और विपक्षी एकजुटता की रणनीति का हिस्सा कहा जा सकता है।

सोमवार को कांग्रेस प्रमुख के आवास पर हुई थी बैठक 

वहीं इससे पहले सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के आवास पर विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक हुई थी। इस बैठक में लगभग सभी विपक्षी दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया था। इस बैठक में क्या चर्चा हुई और क्या रणनीति बनी इस बात का तो खुलासा नहीं हुआ लेकिन माना जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर विपक्षी एकता पर बातचीत हुई है।

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के लिए चंद्रपुर से आ रही लकड़ियां क्यों हैं खास, पढ़े पूरी रिपोर्ट

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के लिए देश की सबसे अच्छी क्वालिटी की सागवान की लकड़िया महाराष्ट्र के चंद्रपुर से जाने किए पूरी तरह से तैयार हैं। पहली खेप भेजने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है। बुधवार को दोपहर तीन बजे पहली खेप 1855 क्यूबिक फीट भेजी जाएगी। सबसे पहले लकड़ियों की पूजा वाल्मीकि समाज से करायी जाएगी। 29 मार्च को चंद्रपुर में महाराष्ट्र सरकार की तरफ भव्य शोभायात्रा निकालने की पूरी तैयारी है। इस शोभायात्रा में देवेंद्र फडणवीस, सुधीर मुनगंटीवार, महाराष्ट्र बीजेपी के कई बड़े नेताओं के साथ साथ उत्तर प्रदेश के भी 3 मंत्री शामिल होने वाले है। साथ ही साथ रामायण धारावाहिक में राम, सीता और लक्ष्मण का रोल निभाने वाले तीनों कलाकार अरुण गोविल, दीपिका चिखालिया और सुनील लाहिरी भी शोभायात्रा में मौजूद रहेंगे।

शोभायात्रा की शोभा महाराष्ट्र के एक हज़ार से ज्यादा लोक कलाकार भी बढ़ाने वाले हैं। इस दौरान कैलाश खेर भी प्रभु श्रीराम के भजन से लोगों का मन मोहेंगे।

क्यों खास है चंद्रपुर की यह लकड़ी?

  1. देहरादून कि संस्था एफआरआई ने राम मंदिर ट्रस्ट को बताया कि चंद्रपुर के सागवान की लकड़ी हिंदुस्तान में सबसे बेहतर क्वालिटी की लकड़ी मानी जाती है।

2.  इन लकड़ियों का चुनाव इसलिए किया गया है क्योंकि इसमें किसी भी तरीके की कलाकृति अच्छी तरीके से उकेरी जा सकती है।

  1. इन लकड़ियों में करीब 1000 साल तक दीमक नहीं लगता है क्योंकि बताया जाता है कि इन लकड़ियों में आयल की मात्रा बहुत ज्यादा होती है।

  2. प्रभु श्री राम अपने वनवास के समय में दंडकारण्य के जंगल में आए हुए थे और चंद्रपुर और आसपास के इलाके को दंडकारण्य का जंगल कहा जाता है और उन्होंने अपने वनवास का काफी हिस्सा दंडकारण्य के जंगलों में ही बिताया था।

  3. प्रभु श्री राम के पिता राजा दशरथ का ननिहाल भी यही चंद्रपुर की जगह को माना जाता है, इसलिए प्रभु श्रीराम के बन रहे मंदिर में इस चंद्रपुर के सागवान की लकड़ियों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

अतीक अहमद को लेकर नैनी जेल से निकली पुलिस, फिर ले जा रहे अहमदाबाद की साबरमती जेल

माफिया अतीक अहमद को उमेश पाल अपहरण केस में उम्रकैद की सजा हुई है। अब उसे फिर से प्रयागराज की नैनी जेल से गुजरात की साबरमती जेल ले जाया जा रहा है। अतीक अहमद को लेकर पुलिस नैनी जेल से लेकर निकल चुकी है।

ताजा जानकारी के मुताबिक, अतीक अहमद को लेकर जा रही पुलिस का काफिला चित्रकूट में 10 मिनट के लिए रुका। यहां पुलिसकर्मियों ने खाना गया। हालांकि अतीक अहमद नैनी जेल में ही खाना खा चुका था।

नैनी जेल के अधिकारियों ने बताया था, माफिया को केवल उमेश अपहरण केस की सुनवाई के लिए प्रयागराज लाया गया था। अब इस मामले में उसे सजा हो गई है, इसके बाद उसे वापस साबरमती जेल भेजा जाएगा। इसके साथ ही उसके भाई अशरफ को भी बरेली जेल में वापस भेजा जाएगा।

अतीक को फांसी के लिए हाईकोर्ट में की जाएगी अपील

बता दें कि सजा मामले में एक और अपडेट ये है कि उमेश पाल अपहरण मामले में अतीक अहमद को फांसी देने के लिए अब हाईकोर्ट में अपील की जाएगी। उमेश पाल केस की पैरवी कर रहे वकील विक्रम सिन्हा ने कहा कि अतीक को फांसी की सज़ा होनी चाहिए ।अशरफ और दूसरे आरोपी जो बरी हुए है उन सबको भी सजा दिलाने के लिए हाईकोर्ट में अपील हो।

गौरतलब है कि प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने पहले माफिया अतीक अहमद समेत तीन आरोपियों को दोषी करार दिया। इसके कुछ देर बाद सभी दोषियों को आजीवन करावास की सजा सुनाई गई। अतीक अहमद समेत सभी आरोपियों को 17 साल पुराने उमेश पाल अपहरण कांड में आजीवन कारवास की सजा सुनाई गई है। वहीं, अतीक अहमद के भाई अशरफ अहमद समेत सात आरोपियों को निर्दोष करार दिया गया।

इस राज्य की राजधानी में मांस बेचने पर लगा बैन, राम नवमी की वजह से लिया गया फैसला

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां मांस बेचने पर बैन लगा दिया गया है। हालांकि ये बैन केवल 30 मार्च के लिए लगाया गया है। इस बैन को बीबीएमपी ने राम नवमी को देखते हुए लगाया है। इससे पहले शिवरात्रि के मौके पर भी बेंगलुरु में मांस की बिक्री पर बैन लगाया गया था।

बीबीएमपी ने जो सर्कुलर जारी किया है, उसके मुताबिक कहीं भी मांस की बिक्री नहीं होगी। अगर कोई आदेश का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

बीबीएमपी ने पहले गांधी जयंती पर भी मांस की बिक्री पर बैन लगा दिया था। हर साल रामनवमी और अन्य धार्मिक आयोजनों पर मांस की बिक्री और पशु वध पर बैन होता है।