नगर निगम के डिप्टी मेयर राजेश वर्मा को जान से मारने की धमकी देने वाला रोहतास के दूध विक्रेता मनन यादव को सोमवार दोपहर पुलिस सुरक्षा के बीच भागलपुर लाया गया। जोगसर थाने में मनन यादव से सिटी डीएसपी और थानेदार ने पूछताछ की लेकिन उसने कहा कि शुक्रवार को बीमार मामा को फोन लगा रहे थे। भूल से गलत नंबर पर कॉल हो गया था। फिर किसी महिला ने फोन कर तुरंत काट दिया था। धमकी देने का आरोप गलत है। रोहतास जिले के डालमियानगर थाने के पूर्णवासी बिगहा गांव का मनन यादव दूध बिक्री का कारोबार करता है। कहा कि ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं हैं। डायरी से नंबर देखकर फोन लगा लेते हैं। भूल से कभी-कभी गलत नंबर लग जाता है। हमलोग छोटा आदमी हैं। मामा से बात नहीं हो रही थी इसलिए फोन कर रहे थे। गांव में पता कर लीजिए हमलोगों का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। मेहनत और मजदूरी करने वाले लोग हैं। सिटी डीएसपी शहरयार अख्तर ने मनन यादव से प्रारंभिक पूछताछ की लेकिन कॉल डिटेल के आधार पर दोबारा पूछताछ की जाएगी। इस मामले में पुलिस डिप्टी मेयर से भी बातचीत करेगी। एसएसपी ने रोहतास पुलिस से भी मनन यादव के चरित्र का सत्यापन कराया है लेकिन वहां के एसपी ने रिपोर्ट दी है कि मनन का कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं है। बीते शुक्रवार सुबह करीब सवा आठ बजे डिप्टी मेयर की पत्नी पूजा वर्मा के मोबाइल पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने मोबाइल नंबर 8294339348 से धमकी दी थी। डेढ़ बजे तक लगातार कॉल आने के बाद डिप्टी मेयर ने एसएसपी को घटना की जानकारी दी थी और पत्नी के बयान पर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। हाइप्रोफाइल मामला देख पुलिस ने जांच शुरू कर दी। मोबाइल का टावर लोकेशन रोहतास जिले का मिला। एसएसपी ने रोहतास एसपी मानव सिंह ढिल्लो से बात की। शनिवार शाम रोहतास के डालमियानगर पुलिस ने मनन यादव को गिरफ्तार कर लिया। आदमपुर पुलिस ने कहा कि आरोपी ने अभी तक कुछ नहीं बताया है।

मनन को फोन करने वाला सोनू पकड़ाया
रोहतास के मनन यादव से बातचीत करने वाला बबरगंज थाने के बागबाड़ी का रहने वाला सोनू को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उसने कहा कि मनन यादव से कोई संपर्क नहीं है। अखबार में नंबर देख फोन कर दिए थे। पुलिस ने मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर सोनू को हिरासत में लिया है लेकिन इसके सोनू और मनन के बीच कभी बातचीत का रिकार्ड नहीं है।

डिप्टी मेयर के सामने एसएसपी ने की पूछताछ
रोहतास से मनन यादव को भागलपुर लाने पर सोमवार शाम एसएसपी मनोज कुमार ने डिप्टी मेयर राजेश वर्मा के सामने मनन और सोनू से पूछताछ की। एसएसपी ने पूछा कि डिप्टी मेयर की पत्नी का नंबर कैसे मिला तो वह बार-बार कह रहा था कि मामा को लगा रहे थे। मनन के मोबाइल की एसएसपी ने जांच की तो देखा कि आठ डिजिज के नंबर पर भी मनन ने छह बार रिंग किया है। डिप्टी मेयर ने कहा कि प्रथम दृष्टया मनन यादव मानसिक रोगी लग रहा है। अगर वह निर्दोष है तो उसे जेल भेजा नहीं जाना चाहिए लेकिन जांच जरूरी है कि पत्नी का नंबर मनन के पास कैसे पहुंचा। उसके मामा का नंबर 98 से है जबकि पत्नी का नंबर 70 से शुरू होता है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की है। पत्नी के नंबर में कॉल रिकार्डर नहीं है लेकिन 21 बार मनन ने फोन किया है इसका रिकॉर्ड है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *