राजधानी पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाले बिहार के सबसे व्यस्त और लंबे गांधी सेतु की हालत इन दिनों खराब है. लगातार सेतु पर मरम्मती का काम जारी है. सरकार की एजेंसियां गांधी सेतु को मजबूत बनाने में लगी हुई हैं. सेतु के कई खंभों में समस्या होने की वजह से उसके ऊपर रोजाना और रात-दीन काम चलते रहता है. जानकारी के मुताबिक अब गांधी सेतु का एक लेन पूरी तरह बंद कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार शाम से पाया नंबर एक से पाया नंबर 46 तक गाड़ियां एक ही लेन में चल रही हैं. यह क्रम आगे इसी तरह जारी रहने की संभावना जतायी जा रही है. इससे पहले हाजीपुर की ओर से एक से 28 नंबर पाया तक बंद था, जो अब पूरी तरह 38 नंबर पाया तक बंद कर दिया गया. यानी पटना से हाजीपुर जाने वाली दूसरे लेन को पूरी तरह बंद कर दिया गया है.

 

आम लोगों के अलावा बाकी वाहनों को भी पटना से हाजीपुर जाने और आने के लिए अब गांधी सेतु पर एक ही लेन में चलना होगा. खासतौर पर ट्रैफिक को लेकर काफी मजबूत इंतजाम किया गया है. वैसे वाहनों पर कड़ी नजर रखने की कवायद चल रही है,जो ओवरटेक करते हैं. स्थानीय लोगों की मानें, तो गांधी सेतु से गुजरने के लिए देर शाम और अहले सुबह का समय काफी माकूल रहता है.

 

शुक्रवार को गांधी सेतु पटना के थानाध्यक्ष, ट्रैफिक डीएसपी-2 मो. शब्बीर अहमद, गंगाब्रिज थानाध्यक्ष शहनवाज खान और कंपनी की तरफ से प्रशासनिक मैनेजर दयानंद दास ने पुल का जायजा लिया. जब अधिकारियों ने पुल का जायजा ले लिया, उसके बाद पुल का एक लेन बंद कर दिया गया. कंपनी के अफसरों ने बताया कि एक पाया पूरी तरह से बंद होने के बाद काम में और तेजी आयेगी. ट्रैफिक डीएसपी ने बताया कि 28 नंबर तक पाया तोड़ने का काम हो गया है. इसीलिये 38 नंबर पाया से वाहनों को घुमाने का काम बंद कर दिया गया है. सुरक्षा में अतिरिक्त बलों को लगाया गया है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *