मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि गुजरात में भाजपा को कोई खतरा नहीं है। उसे वहां जीत मिलेगी। जिस प्रांत के प्रधानमंत्री हैं, वहां के लोग अपने प्रधानमंत्री से अलग वोट नहीं करेंगे। कुछ भावना भी समझा कीजिए। वे सोमवार को मुख्यमंत्री लोक संवाद के बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे उत्तर प्रदेश चुनाव में बहुत पहले ही मेरी धारणा थी कि वहां क्या होने वाला है, इसी प्रकार गुजरात के बारे में भी मेरी दृढ़ धारणा है। मेरा आकलन है कि भाजपा को निश्चित रूप से ठीक से सफलता हासिल होगी। राहुल गांधी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के बाद आपलोग उन्हें क्या कहिएगा यह हमको अभी से समझ है।
मुख्यमंत्री ने एक बार फिर सभी तरह के चुनाव एक साथ कराने की वकालत की। उन्होंने कहा कि हर साल कहीं न कहीं चुनाव होता है। हर चुनाव को सेमीफाइनल मान लिया जाता है। इस पर तो रोक तब लगेगी जब सभी तरह के चुनाव एक साथ कराए जाएं। हालांकि यह तत्काल में संभव नहीं है। इसमें सभी की सहमति की जरूरत है। इसको लेकर संविधान में परिवर्तन करना हो तो उसे भी किया जाए।

‘तेजस्वी बच्चा है’
पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बनाए जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अभी बच्चा है। क्या करेगा? पिता का जो स्वाभाव है, आखिरकार जाएगा कहां? मां-बाप की प्रॉपर्टी अल्टीमेटली बेटे को ही जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी को नेता बना देने का आरोप भी मुझ पर और उसे खिसका दिया तो वह भी आरोप मुझ पर ही लग रहा है।
‘लालू प्रसाद की निजी संपत्ति है राजद’
मुख्यमंत्री ने कहा कि लालू प्रसाद की निजी संपत्ति है राजद। पता नहीं क्यों एक साल के अंदर ही दोबारा अध्यक्ष का चुनाव वे क्यों करा रहे हैं। दरअसल मीडिया में जगह पाने के लिए वे ऐसा करते हैं। बिना नाम लिये लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए कहा कि उस आदमी को विकास से कोई लेना-देना नहीं है। उनके द्वारा किये जा रहे शब्दों के उपयोग पर मुझे कुछ नहीं कहना है। मैं उस घटिया स्तर पर जाकर बयानबाजी का हिस्सा नहीं बन सकता हूं। महागठबंधन में उन्हें इतना सीट भेंटा गया, अगला चुनाव होने दीजिए वे फिर बैक टू पवेलियन हो जाएंगे।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *