ग्रामीणों ने प्रेमी जोड़े को रात भर बंधक बनाकर पीटा, सुबह बाल मुंडवाकर गांव में घुमाया

ग्रामीणों ने प्रेमी जोड़े को रात भर बंधक बनाकर पीटा, सुबह बाल मुंडवाकर गांव में घुमाया

10th August 2018 0 By Kumar Aditya

जिले के कोढ़ा थाना क्षेत्र के संथाली टोला के समीप शाम पोल्ट्रीफार्म में एक प्रेमी-प्रेमिका को स्थानीय ग्रामीणों ने गुरुवार की देर शाम पकड़ लिया. इसके बाद दोनों को रात भर आदिवासी टोला के ही एक घर में बंधक बनाकर पीटा गया. फिर शुक्रवार की सुबह ग्रामीणों उन दोनों का बाल मुंडवाकर गले में जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरी बस्ती में घुमाया.

इस प्रकरण में सबसे आश्चर्य की बात यह रही कि थाने से महज दो सौ मीटर की दूरी पर ग्रामीण प्रेमी-प्रेमिका के साथ बर्बर सलूक करते रहे. लेकिन, पुलिस इस मामले से अनजान बनी रही. जब इस बात की जानकारी एसपी विकास कुमार को हुई, तब उनके निर्देश पर कोढ़ा थाने में पांच नामजद और 30 अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी. कोलाशी ओपी क्षेत्र निवासी सोनू साह शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं. आदिवासी टोला की एक विवाहित महिला जिसका अपने पति से संबंध विच्छेद हो चुका है, उसके साथ सोनू के रिश्ते कुछ दिनों से प्रगाढ़ होने लगे. दोनों सामाजिक बंधन को दरकिनार कर एक दूसरे से मिलते रहे. गुरुवार की देर शाम ग्रामीणों ने उन दोनों को अंतरंग अवस्था में देख लिया.

 

 

 

 

रात भर दोनों को बंधक बनाकर रखा

सोनू व उसकी प्रेमिका को आपत्तिजनक स्थिति में देख ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई की. उसके बाद दोनों को मदन हेंब्रम के घर में रात भर खूंटे से बांध कर रखा. इस दौरान दर्जनों आदिवासी समाज के लोग मदन के आंगन में जुटे और सभी बारी-बारी से प्रेमी जोड़े को पीटते रहे. यह सिलसिला रात भर चला. सुबह हुई, तो समुदाय के कुछ लोगों के निर्देश पर दोनों का बाल मुंड़वा जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे बस्ती में घुमाया गया. उधर, घटना को लेकर क्षेत्र में तनाव का माहौल बना रहा. खबर लिखे जाने तक प्रेमी-प्रेमिका कहां थे. इसकी सही जानकारी नहीं मिल पा रही थी.

 

जानकारी के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं गयी

कोलासी ओपी कैंप से दो सौ मीटर की दूरी पर यह शर्मनाक वारदात होती रही और पुलिस ने हस्तक्षेप करने तक का प्रयास नहीं किया. सूत्रों के अनुसार स्थानीय पुलिस को सूचना दी गयी थी कि गांव में प्रेमी जोड़े को बंधक बना कर रखा गया है. लेकिन, पुलिस न तो मौके पर गयी और न ही किसी प्रकार की कार्रवाई की. जब मामले की सूचना एसपी को मिली, तब जाकर पुलिस हरकत में आयी. हालांकि, पुलिस का कहना था कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. पीड़ित महिला व पुरुष को छुड़ा लिया गया है. दोनों अपने-अपने घर चले गये.

 

एसपी विकास कुमार ने बताया कि कोलाशी ओपी क्षेत्र में इस प्रकार की घटना की सूचना प्राप्त हुई. इसके बाद पीड़ित महिला के पिता को थाने बुलाया गया, लेकिन उसने आवेदन देने से मना कर दिया. उक्त मामले में दोनों को बंधक बनाकर पिटायी करने तथा उन दोनों का बाल मुंड़वा कर गांव में घुमाने को लेकर कोलाशी कैंप के चौकीदार नारायण तुरी के बयान पर कोढ़ा थाने में पांच नामजद व 30 अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है. एसपी ने कहा कि मामले में जो भी दोषी होंगे, उनकी गिरफ्तारी शीघ्र की जायेगी.

Advertisements