Bihar TOP NEWS

बिहार: दवा व्यवसायी के पुत्र की अपहरण बाद बैट से पीटकर हत्या

बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के डुमरियाघाट थानाक्षेत्र के रामपुर खजुरिया चौक से बेखौफ अपराधियों ने एक दवा व्यवसायी राजकिशोर साह के पुत्र प्रिंस (7) का अपहरण कर उसे मौत के घाट उतार दिया। बच्चे की हत्या बैट से मारकर करने के बाद पास के ही एक निजी विद्यालय के समीप फेंका और व्यवसायी को फोन कर दस लाख की फिरौती मांगी। घटना के बाद इलाके में दहशत है।

हालांकि व्यवसायी पुत्र के हत्या की बात मंगलवार की देर रात खुली। लेकिन, इससे पहले अपहरण से नाराज व्यवसायियों ने घटना के विरोध में खजुरिया चौक की दुकानें बंद कर दी और स्टेट हाई-वे-74 को जाम कर दिया। नाराज लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। कहा कि पुलिस को घटना के बाद सोमवार की रात ही सूचना दी गई। लेकिन, पुलिस अगले दिन भी काफी देर बाद सक्रिय हुई।

इस बीच घटना की सूचना मिलने के बाद डुमरियाघाट पहुंचे एसपी उपेंद्र कुमार शर्मा वहीं कैंप कर गए। पुलिस की अलग-अलग टीमों को गोपालगंज, सिवान और मुजफ्फरपुर के लिए दौड़ाई। साथ ही स्थानीय स्तर पर एक टीम को छापे में लगाया। इस दौरान रामपुर खजुरिया पंचायत की पूर्व मुखिया के पति बच्चा गिरि, पुत्र सुजीत कुमार व उसके साथी सिवान जिले के चंचल कुमार को गिरफ्तार किया गया। सुजीत के पास से फिरौती में प्रयुक्त सेल फोन व सिमकार्ड जब्त किया गया है। पूछताछ के बाद पुलिस ने बच्चे का शव बरामद किया। शेष लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

बताया गया गया है कि रामपुर खजुरिया पंचायत निवासी पूर्व पंचायत समिति सदस्य राजकिशोर साह का पुत्र ज्ञान प्रकाश कुमार गुप्ता उर्फ प्रिंस कुमार स्थानीय राजकीय मध्य विद्यालय में तीसरी कक्षा का छात्र था। विद्यालय से वापस लौटकर सोमवार की शाम वह घर से बाहर खेलने गया था। लेकिन, तय समय एक घंटे के बाद तक घर नहीं लौटा। परिजनों ने काफी देर तक उसकी तालाश की। जब वह नहीं मिला तो परिजनों ने बच्चे के गायब होने की जानकारी रात में स्थानीय थाना को दी। मंगलवार को थाना में आवेदन देकर व्यवसायी ने पुलिस से अपने पुत्र के सकुशल रिहाई की गुहार लगाई।

पुलिस को दिए आवेदन में बताया कि सोमवार की रात अज्ञात अपराधी ने मोबाइल नंबर 9534767665 से फोन कर कहा- ‘तुम्हारा लड़का हमारे कब्जे में है। बच्चे की रिहाई चाहते हो तो दस लाख रुपया लेकर मुजफ्फरपुर पहुंचो। होशियारी की कोशिश नहीं करना। प्रशासन को इसकी जानकारी दी तो अंजाम बुरा होगा।’ इस बीच मंगलवार की रात पुलिस ने बच्चे का शव बरामद किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया है।

एसपी कर रहे कैंप, गिरफ्तार लोगों से चल रही पूछताछ

पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा और चकिया डीएसपी मुंद्रिका प्रसाद लगातार डुमरियाघाट में कैंप कर रहे हैं। डीएसपी ने पीड़ित के घर जाकर लोगों से बात की है। इस बीच शव मिलने से पहले एसपी ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी अपहृत के पिता से ली और पुलिस की छापेमारी टीम को कई आवश्यक निर्देश दिए। इससे पहले बच्चे के पिता से कई बिंदुओं पर बात की।

छापेमारी के दौरान बच्चे का शव बरामद किया गया है। मामले में तीन लोगों की गिरफ्तारी की गई है। कई जगहों पर छापेमारी चल रही है। गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर आगे की कार्रवाई चल रही है। जल्द ही पूरे मामले का खुलासा हो जाएगा। घटना के पीछे फिरौती के अलावा अन्य कारणों की जांच की जा रही है।

उपेंद्र कुमार शर्मा

पुलिस अधीक्षक, मोतिहारी (पूचं.)

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *