भागलपुर में आयोजित गणगौर मेला में शामिल हूए भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे

रविवार को गोशाला परिसर में गणगौर मेले का आयोजन हुआ जहां राजस्थानी  संस्कृति की झलक देखने को मिली।  बिहार प्रादेशिक मारवाड़ी सम्मेलन नगर  शाखा भागलपुर की ओर से आयोजित  मेले में राजस्थानी परंपरा जीवंत हो उठी।  मारवाड़ी समाज की महिलाओं और बच्चों ने मेले का भरपूर आनंद उठाया। लोगों ने  राजस्थानी नृत्य और स्टालों पर चटकारी  चाट का आनंद लिया। इस दौरान लक्की ड्रा गेम्स, नृत्य आदि के आयोजन हुए।

समारोह का उद्घाटन पूर्व महापौर दीपक भुवानियां, पूर्व उपमहापौर डॉ. प्रीति शेखर, भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे, उपमहापौर राजेश वर्मा, सम्मेलन के अध्यक्ष श्रवण बाजोरिया,  महासचिव विनोद अग्रवाल, उपाध्यक्ष  रोहित झुनझुनवाला, रामगोपाल पोद्दार,  चेंबर अध्यक्ष शैलेन्द्र सर्राफ, महासचिव अशोक भिवानीवाला, लक्ष्मी प्रसाद डोकानियां आदि ने संयुक्त रूप से किया।  इस दौरान नव निर्वाचित पदाधिकारियों का  पद स्थापन कराया गया।

कार्यक्रम में भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे ने कहा कि इस आयोजन से प्राचीन परंपरा जीवंत  हुई है।उन्होंने कहा कि मारवाड़ी सम्मेलन ने इस तरह का आयोजन  कर राजस्थानी परिवेश को साकार कर  दिखाया।

अध्यक्ष श्रवण बाजोरिया ने  कहा कि राजस्थानी परंपरा कायम रहे  इसके लिए मेले का आयोजन किया गया  है। इस अवसर पर लक्की ड्रॉ, मनोरंजन  गेम्स, चटकारी चाट, राजस्थानी नृत्य के  आयोजन हुए। संयोजक मनीष छापड़िया,  निर्देशक रवि किशोरपुरिया, सह निर्देशक  अश्विनी जोशी मोंटी, मनीष बुचासिया,  जॉनी संथालिया, आशीष सर्राफ, उत्तम  खेमका, पद्म जैन,रोहित झुनझुनवाला  सहित समाज के हजारों महिला, पुरुष और  बच्चेशरीक हुए। मेले के दौरान बच्चों के  कई राउंड डांस प्रतियोगिताएं हुईं। जिसे  लोगों ने खूब सराहा। वहीं राधा-कृष्ण की  जीवंत झांकी ने मेले में आए दर्शकों का  मन मोह लिया। कलाकारों ने राजस्थानी  नृत्य की प्रस्तुति दी।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *