Bihar Crime

मुजफ्फरपुर में लड़की की हत्या कर शव दफनाने का मामला : अब तक नहीं मिला गायब बच्ची का कोई अवशेष

एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति द्वारा चलाये जा रहे बालिका गृह चलानेवाले मुजफ्फरपुर अल्पावास गृह परिसर में एक लड़की की हत्या करने और शव को परिसर में दफनाने की बात सामने आने पर बालिका गृह परिसर में खुदाई के स्थान चिह्नित कर लिये गये हैं. सोमवार को बच्ची को दफनाये जाने का आरोप लगानेवाली बच्ची ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में बताया कि कहां खुदाई करायी जाये. इसके बाद उस स्थान की खुदाई शुरू की गयी. खुदाई अब भी जारी है. हालांकि, अब तक कोई अवशेष नहीं मिला.

 

खुदाई को लेकर मौके पर सिटी एसपी पीके मंडल, महिला थाना प्रभारी ज्योति कुमारी, मजिस्ट्रेट प्रिया रानी गुप्ता, निगम के कर्मचारी समेत कई अधिकारी पहुंच चुके हैं. खुदाई के लिए निगम से जेसीबी मंगायी गयी है. मालूम हो कि बालिका गृह की एक पीड़िता ने कहा था कि बात नहीं मानने पर एक लड़की को इतना पीटा गया था कि उसकी मौत हो गयी थी. इसके बाद उसका शव दफना दिया गया. लड़की का बयान सामने आने के बाद बिहार सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए खुदाई कराने का फैसला किया, ताकि सच्चाई का पता चल सके.

सांसद पप्पू यादव ने लोकसभा में उठाया मामला, सीबीआई जांच की मांग की,

अल्पावास की लड़कियों से यौन शोषण किये जाने का मामला सांसद पप्पू यादव ने सोमवार को लोकसभा में उठाया. साथ ही मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की. उन्होंने राज्य सरकार पर हमला करते हुए कहा है कि मेडिकल रिपोर्ट में खुलासा हो जाने के बाद सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि इस कुकृत्य में किन-किन लोगों का हाथ है.

 

क्या कहती हैं SSP

मुजफ्फरपुर की वरीय आरक्षी अधीक्षक हरप्रीत कौर ने कहा कि मुजफ्फरपुर अल्पावास गृह मामले में अब तक 11 लोगों के खिलाफ सबूत मिले हैं. इनमें से 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि एक अब भी फरार है. जल्द ही सभी आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जायेगी. उन्होंने बताया कि सभी पीड़िताओं से 161 और 164 के तहत बयान दर्ज किया गया है. साथ ही बच्चियों के बयान की वीडियोग्राफी करायी गयी है. पीड़िताओं में से किसी ने भी अल्पावास गृह से बाहर ले जाये जाने की बात नहीं कही है. उन्होंने बताया कि मामले की गहराई से जांच की जा रही है. पुलिस स्वतंत्र रूप से काम कर रही है. हम पूरी तरह से जांच कर रहे हैं. मामला गंभीर है, बिना किसी सबूत के पुलिस आगे नहीं बढ़ सकती. उन्होंने बताया कि बच्ची की निशानदेही पर मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में खुदाई की जा रही है. साथ ही कहा कि गायब हुई लड़कियों के घरों पर टीम भेज कर लड़कियों का पता लगाया जायेगा. साथ ही कहा कि जरूरत पड़ी, तो खुदाई का दायरा भी बढ़ाया जायेगा.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *