लालू की सेवा के लिए जेल में पहुंच गए उनके दो ‘सेवक’, लूट और मारपीट के मामले में किया है सरेंडर

लालू की सेवा के लिए जेल में पहुंच गए उनके दो ‘सेवक’, लूट और मारपीट के मामले में किया है सरेंडर

9th January 2018 0 By Kumar Aditya

खास बातें

  • लूट और मारपीट के मामले में दोनों पहुंचे जेल
  • दोनों जेल में करते हैं लालू की सेवा
  • पहले भी जेल में कर चुके हैं सेवा

रांची: आरजेडी सुप्रीम लालू प्रसाद यादव की आप कितनी भी आलोचना कर लें लेकिन उनसे जुड़ी इस खबर को पढ़ने के बाद आप भी कहेंगे लालू का जादू बिहार में लोगों के सिर क्यों चढ़कर बोलता रहा है. चारा घोटाला मामले में उनको साढ़े तीन साल की कैद हो चुकी है. जज के साथ उनकी बातचीत के किस्से खूब सुने जा रहे हैं. लेकिन इसी बीच लालू के दो ‘सेवकों’ से जुड़ी हैरान करने वाली खबर आई है. इन दोनों सेवकों का नाम है लक्ष्मण महतो और मदन यादव. लक्ष्मण पटना के रहने वाले हैं तो मदन यादव रांची के निवासी हैं.

दोनों इस समय रांची के बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं और लालू प्रसाद यादव की पूरी देखरेख और सेवा में जुटे हैं. लेकिन इन दोनों के जेल में पहुंचने की कहानी दिलचस्प है. सुमित यादव नाम के एक शख्स ने मदन और लक्ष्मण के खिलाफ मारपीट और दस हज़ार रुपये छीनने का मामला दर्ज कराया. ये मामला रांची की डोरडा थाने पहुंचा. लेकिन वहां के थाना प्रभारी ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया. इस पर सुमित ने एक दूसरे थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी. इसके बाद लक्ष्मण और मदन ने कोर्ट में सरेंडर किया. जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया.

मदन रांची के निवासी हैं और डेयरी का कम करते हैं. पिछली बार भी रांची जेल में जब लालू यादव बंद थे तब वो ऐसे ही किसी मामले में जेल पहुंच गए थे. वहीं लक्ष्मण लालू के ख़ास सेवक हैं जो उनके खाने से लेकर दवा तक का पूरा ध्यान रखते हैं. आपको बता दें कि लक्ष्मण वही शख़्स हैं जो पिछले साल एक टीवी चैनल के ऑडियो क्लिप में थे और उन्हीं के मोबाइल पर जेल में बंद पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन ने लालू यादव से बातचीत करने के लिए फोन किया था.

 

 

निश्चित रूप से इन दोनों के जेल में रहने से लालू यादव के परिवार के लोग उनके खाने और दवा को लेकर चिंतित न हों. लेकिन, उनके वकीलों के अनुसार जब ज़मानत के लिए वो हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डालेंगे तब इसका उल्टा असर पर सकता है.

Advertisements