क्रिकेट के इतिहास में इस तरह का मौका शायद ही आया हो जैसा इस मैच में हुआ। दरअसल बीसीसीआइ महिला अंडर-19 वनडे लीग के एक मुकाबले में नागालैंड अंडर-19 टीम केरल के खिलाफ सिर्फ 2 रन पर ऑल आउट हो गई। इस टीम ने कुल 17 ओवर खेले और सिर्फ दो रन ही बना पाई। इसमें से एक रन टीम की ओपनर बल्लेबाज मेनका ने बनाया। मेनका ने अपनी टीम की तरफ से सबसे ज्यादा 18 गेंदें खेली और एक रन बनाए। इसके अलावा टीम का दूसरा रन वाइड से आया। ये वाइड गेंद केरल की गेंदबाज एलीना सुरेंद्रन ने फेंकी थी। ये मुकाबला गुंटुर के जेकेसी कॉलेज मैदान पर खेला गया था। इस मैच में नागालैंड टीम की 9 बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल पाई।

इस मैच में एलीना सुरेंद्रन ऐसी गेंदबाज रहीं जिन्होंने दो रन दिए और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला। एलीना ने 3 ओवर में 2 मेडन ओवर फेंका 2 रन दिए और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। टीम की दूसरी गेंदबाज सौरभ्या पी ने 6 मेडन ओवर फेंके और 2 विकेट लिए जबकि कप्तान मीनू मनी ने 4 ओवर में 4 विकेट लिए और एक भी रन नहीं दी। सैंद्रा सुरेन और बिबे सेबेस्टियन ने 2-2 ओवर फेंके और 1-1 विकेट लिए। इन दोनों ने भी एक भी रन नहीं दिया।

केरल को जीत के लिए मिले 3 रन के लक्ष्य को सिर्फ एक ही गेंद में हासिल कर लिया। नागालैंड की ओपनर गेंदबाज दीपिका कैनतुरा ने अपने ओवर की शुरुआत वाइड गेंद से की और उसके बाद उनकी अगली ही गेंद पर केरल की ओपनर बल्लेबाज अंशु एक राजू ने चौका लगाकर टीम को जीत दिला दी।

केरल टीम के कोच सुमन शर्मा ने टीम के खिलाड़ियों के इस प्रदर्शन के लिए उनकी जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि ये कमाल की जीत थी। हम अच्छी क्रिकेट खेल रहे हैं लेकिन आज लड़कियों ने जो प्रदर्शन किया वो अलग था। नागालैंड की टीम ज्यादा अच्छी नहीं है और हम उम्मीद कर रहे थे कि वो 20, 30 या 40 रन बना सकते हैं लेकिन उनका 2 रन पर ऑलआउट हो जाना अजूबा था। इस जीत का श्रेय टीम की कप्तान मीनू के साथ टीम के अन्य सदस्यों को भी जाता है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *