मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में रविवार को तीसरी बार फेरबदल हुआ। इसमें कम से कम नौ नए चेहरे शामिल हुए। इनमें बक्सर से भाजपा सांसद अश्विनी चौबे और आरा से भाजपा सांसद आरके सिंह भी शामिल हैं। अश्विनी चौबे बक्सर से सांसद हैं और उन्हें आज कैबिनेट में जगह मिल गई। वे पहली बार कैबिनेट के मंत्री बने हैं। आरके सिंह ने भी आज राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की वृंदावन बैठक से लौटने के बाद दिनभर चली बैठकों के बाद देर शाम नए मंत्रियों को लेकर स्थिति साफ हुई।

भागलपुर से पांच बार एमएलए रहे बक्सर के सांसद अश्विनी कुमार चौबे केंद्र में मंत्री बने है। यह सूचना मिलते ही भागलपुर से बक्सर तक में खुशी छा गयी। भागलपुर से 1995 में जनता दल के केदारनाथ यादव को हराकर पहली बार विधानसभा में पहुंचे। लगातार 2013 तक पांच बार भागलपुर से विधायक चुने गये।

जेपी आंदोलन में शामिल थे

1977 में पटना विवि छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में उनके राजनीतिक कॅरियर की शुरुआत हुई। जेपी आंदोलन में वे 23 महीने जेल में रहे। उस आंदोलन में पटना पुलिस की इतनी लाठियां उनपर बरसी थीं कि वे महीनों अस्पताल में भर्ती रहे। 1979 के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में आए। 1981 में भाजपा में आए। पहले भाजयुमो में काम किया। भाजपा के पूर्णकालिक कार्यकर्ता के रूप में करीब दस सालों तक काम किया।  बिहार- झारखंड से नरेन्द्र मोदी मंत्रिमंडल के ब्राह्मण चेहरा होंगे। चौबे आरएसएस से जुड़े हैं।

प्रोफाइल

अश्विनी कुमार चौबे

  • बक्सर से सांसद

  • मई 2014 में 16वीं लोकसभा के लिए चुने गए

  • 1995 से 2014 तक पांच बार विधायक रहे

  • बिहार सरकार में कई विभागों के मंत्री रहे

  • कई कमेटियों के सदस्य रहे

  • छात्र आंदोलनों में सक्रिय रहे, जेपी आंदोलन में भी हिस्सा लिया

Advertisements

Comments

  1. श्री चौबे जी भागलपुर में केंद्रीय विद्यालय खुलबाईए ,आपके लिए आसान काम है ,सिर्फ संक्षिप्त प्रयास काफी है अभी केंद्र सरकार नए केवि देशभर में खोलने का अभियान चला रखी है ,जय जगत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *