Bihar Politics State TOP NEWS

JDU की तेजस्वी को लंबी-चौड़ी सलाह, न्याय यात्रा के दौरान करें यह काम

पटना : बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू यादव की राजनीतिक विरासत संभालने के प्रयास में जुटे तेजस्वी यादव न्याय यात्रा पर हैं. न्याय यात्रा को लेकर तेजस्वी पर लगातार विपक्ष हमलावर है और उनसे यात्रा के मायने पूछ रहा है. इसी क्रम में जदयू के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने कहा है कि राजद के प्रमुख लालू प्रसाद जी जहां रांची में जेल की सजा काट रहे हैं, वहीं उनके पुत्र और दागी युवराज तेजस्वी यादव आज से कटिहार जिले से अपनी कथित न्याय यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं.

जदयू प्रवक्ता सह विधान पार्षद नीरज कुमार ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि जदयू ने राबड़ी देवी से उन जिलों के बारे में जानकारी मांगी थी, जिसका दौरा तेजस्वी यादव करने वाले हैं. जदयू ने पूछा था कि वह अपने शासनकाल के दौरान का हिसाब दें. परंतु उनकी मजबूरी हो सकती है कि उन्होंने अब तक हिसाब नहीं दिया. राजद वर्तमान शासनकाल की तुलना में धरातल और तथ्यों के मामले में कहीं नहीं ठहरता. ऐसे में जदयू उन्हें हकीकत से रूबरू करवा रही है. आशा है कि इन आंकड़ों से राजद के नेताओं के आंख पर से पट्टी हटेगी और तेजस्वी जी अपनी इस यात्रा में उन जिलों में अपनी बेनामी संपत्ति का भी खुलासा करेंगे, जिस जिले में वे जायेंगे.

नीरज कुमार ने कहा कि कटिहार जिले में राजद के 15 साल के शासनकाल में जहां हत्या के 1,147 मामले विभिन्न थानों में दर्ज हुए थे. वहीं डकैती के 633 मामले, सेंधमारी के 1,402 मामले, फिरौती के लिए अपहरण के 26, रॉबरी के 587, दंगा के 3,980 मामले और सड़क डकैती के 83 मामले दर्ज हुए थे. इसके विपरीत नीतीश कुमार जी के 12 वर्ष के मुख्य मंत्रित्च काल में हत्या के 882, डकैती के 212, सेंधमारी के 745, फिरौती के लिए अपहरण के 12, रॉबरी के 355, दंगा के 2,627 मामले तथा सड़क डकैती के मात्र 45 मामले ही दर्ज हुए हैं.

उन्होंने कहा कि बिहार के लोग जानते हैं कि राजद के शासनकाल में सड़कों की हालत क्या थी? और इसमें अब कितनी सुधार हुई है. तेजस्वी जी, आप भी यात्रा के बाद लौटकर यह बताएंगे कि आप कितने घंटे में पटना से कटिहार पहुंच गये. नीतीश जी के कार्यकाल में कटिहार जिले में2,264 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गयी है, जबकि 1,745 किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है, जबकि 518 किलोमीटर निर्माणाधीन है. इसी तरह 1,700 किलोमीटर पथ प्रस्तावित हैं.

नीरज कुमार ने कहा कि अल्पसंख्यकों की दुहाई देने वाले राजद के नेताओं को यह भी जानना जरूरी है कि नीतीश जी की सरकार ने कटिहार जिले में अब तक 112 कब्रिस्तानों की घेराबंदी करवा चुकी है, जबकि आपके सरकार ने इस योजना को प्रारंभ करने की सोची तक नहीं थी. इसी तरह युवाओं में हुनर के लिए कुशल युवा कार्यक्रम के तहत 5,250 युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है तथा मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता योजना के तहत1,458 लोगों को भत्ता दिया जा रहा है. छात्रों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 105 छात्रों को बैंकों द्वारा ऋण उपलब्ध कराये जा चुके हैं.

नीरज ने कहा कि तेजस्वी जी, राजद के शासनकाल के शिक्षा व्यवस्था की स्थिति की भी चर्चा आप अपनी यात्रा के दौरान करें. यह भी बिहार के लोगों से न्याय होगा. राजद के शासनकाल में चरवाहा विद्यालय खोला जा रहा था. कटिहार जिले में 2005-06 में कुल स्कूलों की संख्या जहां 1,281 और शिक्षकों की संख्या 5180 थी. वहीं, 2015-16 में स्कूलों की संख्या बढ़कर 2,168 व शिक्षकों की संख्या 14,509 हो गयी है. इसी तरह स्कूल जाने वाले बच्चों की संख्या में 2005-2006 में जहां3,46,003 थी वहीं 2015-16 में यह संख्या 7,28,845हो गयी, जो उस समय से करीब दोगुनी है.

कटिहार जिले में नीतीश जी के शासनकाल में 20उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय हुए जबकि 30 मध्य से माध्यमिक विद्यालय बनें. इसी तरह मुख्यमंत्री विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के तहत 21,419 छात्रों को राशि दी गयी. जबकि, वर्ष 2016-17 में मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना में 374 छात्रों को राशि दी गयी. अन्य पिछड़ा वर्ग प्रवेशिकोतर छात्रवृत्ति योजना के तहत 2010-11 से 2014-15 तक 21,750 छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की गयी. नीरज ने कहा कि दागी तेजस्वी जी, आपके पिताजी तो अपनी करनी का फल भोग ही रहे हैं, आप भी उन्हीं के रास्ते में नहीं चलते हुए नकारात्मक राजनीति छोड़ विकास और सकारात्मक राजनीति की ओर देखिए, नहीं तो लोकतंत्र में युवराज और परिवारवाद नहीं चलती.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *