• Fri. Jan 27th, 2023

कांग्रेस में मचे घमासान पर G-23 नेताओं के बाद अब पी चिदंबरम आए सामने, जानें क्या कहा

ByShailesh Kumar

Oct 1, 2021

पंजाब कांग्रेस में जारी संकट को लेकर कपिल सिब्बल, गुलाम नबी आजाद, मनीष तिवारी के बाद अब पी चिदंबरम ने भी पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी है। पी चिदंबरम ने गुरुवार को एक ट्वीट करते हुए कहा कि जब हम पार्टी मंचों के भीतर सार्थक बातचीत शुरू नहीं कर पाते हैं तो मैं असहाय महसूस करता हूं। इसके साथ-साथ चिदंबरम ने कपिल सिब्बल के घर के सामने हुए विरोध प्रदर्शन को लेकर भी आवाज उठाई है। बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू की ओर से पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद राज्य में एक नया राजनीतिक संकट खड़ा हो गया है।

पंजाब कांग्रेस में जारी उथल-पुथल के बीच चिदंबरम ने ट्विट में कहा ‘जब हम पार्टी मंचों के भीतर सार्थक बातचीत शुरू नहीं कर पाते हैं तो मैं असहाय महसूस करता हूं। जब मैं अपने एक सहयोगी और सांसद के आवास के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा नारे लगाते हुए तस्वीरें देखता हूं तो मैं भी आहत और असहाय महसूस करता हूं।’

हम ‘जी हुजूर 23’ नहीं हैं

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने बुधवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। अपनी चिट्ठी में उन्होंने कहा, ”हम “जी हुजूर 23″ नहीं हैं। यह बहुत स्पष्ट है। हम बात करते रहेंगे। हम अपनी मांगों को दोहराना जारी रखेंगे।” आपको बता दें कि कि कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, उन 23 पार्टी नेताओं में से एक हैं, जिन्होंने पिछले साल कांग्रेस अध्यक्ष को एक पत्र लिखा था। उस पत्र में कई संगठनात्मक सुधारों की मांग की गई थी।

सिब्बल बोले- जो करीबी थे वो साथ छोड़कर जा रहे हैं

कपिल सिब्बल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर इशारों में हमला बोलते हुए कहा कि जो उनके करीबी थे, वे भी साथ छोड़कर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जितिन प्रसाद, ज्योतिरादित्य सिंधिया और ललितेश त्रिपाठी जैसे बड़े नेता हमें छोड़कर जा चुके हैं। कपिल सिब्बल की ओर से पत्र लिखे जाने के कुछ ही समय बाद गुलाम नबी आजाद ने भी सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलानी का मांग की।

क्या कहा था मनीष तिवारी ने?

कपिल सिब्बल की ओर से पार्टी नेतृत्व पर सवाल खड़ा किए जाने के बाद पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने बुधवार को सिब्बल के आवास के बाहर प्रदर्शन किया और उनके खिलाफ नारेबाजी की। सिब्बल के घर के बाहर नारेबाजी मनीष तिवारी ने ट्वीट कर कहा, ‘जो लोग पिछली रात नेतृत्व के प्रदर्शन को डिफेंड कर रहे थे…उसके बाद कपिल सिब्बल के घर के बाहर क्या हुआ…उनलोगों ने गाड़ी को नुकसान पहुंचाया। गाड़ी के ऊपर खड़े हो गये। घर के अंदर और बाहर टमाटर फेंके गये। अगर यह उपद्रव नहीं तो फिर क्या है?