बीजेपी नेता मनोज तिवारी बोले मैं करूंगा यमुना किनारे छठ पूजा, सीएम केजरीवाल रोक सकें तो रोक लें

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यमुना किनारे छठ पूजा करने पर पाबंदी लगा दी है। बिहार के BJP नेताओं ने एक सुर से इसका विरोध किया है। BJP सांसद मनोज तिवारी और विधायक हरिभूषण ठाकुर बचोल ने तीखी बयानबाजी की है। ठाकुर ने कहा, केजरीवाल किसी को भी छठ करने से नहीं रोक सकते हैं। छठ बिहार और पूरे पूर्वांचल के लोगों की आस्था से जुड़ा त्योहार है। दिल्ली में जितने भी पूर्वांचली और बिहारी रहते हैं वह यमुना नदी के किनारे छठ करेंगे।

बचोल बोले- केजरीवाल आस्था से खेलते हैं
BJP नेता बचोल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल पहले अयोध्या राम मंदिर को लेकर कहते थे कि जो मंदिर टूट गया है वहां पूजा नहीं करनी चाहिए। भगवान वहां नहीं होते हैं। अब अयोध्या जाकर 2 दिन तक उन्होंने पूजा-अर्चना की। अरविंद केजरीवाल जैसे लोग लाखों लोगों की आस्था से खेलते हैं, लेकिन पूरे पूर्वांचल के लोग आस्था के प्रतीक छठ को यमुना किनारे मनाएंगे। उन्हें कोई नहीं रोक सकता है।

सांसद मनोज तिवारी ने भी किया विरोध
दिल्ली सरकार के इस निर्णय का BJP सांसद मनोज तिवारी ने भी विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि यह पूर्वांचल की धार्मिक आस्थाओं के साथ खेल हो रहा है। आज मैं यह जानकर हैरान हूं कि दिल्ली सरकार ने यमुना के तट पर छठ उत्सव पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया है। अरविंद केजरीवाल की हिंदू विरोधी नीति बेनकाब हो रही है।

हम पूर्वांचली इसे स्वीकार नहीं करते हैं। वहीं, पश्चिमी दिल्ली के सांसद परवेश साहिब सिंह ने भी इसका विरोध किया है। उन्होंने ट्वीट करके लिखा है कि छठ पूर्वांचल के भाइयों और बहनों के लिए सबसे बड़ा त्योहार है। उस पर प्रतिबंध लगाना उनकी मान्यताओं के साथ खेलने जैसा है। केजरीवाल जी मैं खुद यमुना में जाऊंगा और सुनिश्चित करूंगा कि छठ पूजा वहां हो, अगर आप मुझे रोक सके तो रोक लीजिए।

यह है मामला

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने एक आदेश जारी करते हुए यमुना नदी के किनारे को छोड़कर दिल्ली में कुछ स्थानों पर ही छठ पूजा की अनुमति दी है। प्राधिकरण के मुताबिक श्रद्धालु पूजा करने और पूजन सामग्री को प्रवाहित केवल चिन्हित स्थानों पर ही कर सकेंगे। यमुना नदी में किसी भी प्रकार का सामान प्रवाहित करने का पर प्रतिबंध रहेगा। यमुना नदी किनारे छठ नहीं करने का निर्देश जारी किया गया है।