ग्रेग चैपल ने कहा- विश्व क्रिकेट में एक साथ 5 बेस्ट टीम खड़ी कर सकता है भारत

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के 32 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़कर ब्रिस्बेन में द गब्बा में इतिहास रचा था और अपने कप्तान विराट कोहली की अनुपस्थिति और अपने मुख्य खिलाड़ियों को खोने के बावजूद 2-1 से प्रतिष्ठित बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी को बरकरार रखने में कामयाब रहा था। इसके परिणामस्वरूप विश्लेषकों और प्रशंसकों द्वारा ऑस्ट्रेलिया को कुछ कठोर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

पूर्व भारतीय कोच ग्रेग चैपल ने युवा प्रतिभाओं को निवेश और संवारने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को कहा है। चैपल का मानना ​​है कि ऑस्ट्रेलिया के युवा भारतीय समकक्ष युवा क्रिकेटरों की तुलना में बहुत पीछे हैं। उन्होंने सीए से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) जैसे बड़े मंच के लिए घरेलू खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए पैसे खर्च करने का भी आग्रह किया।

चैपल ने ‘सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड’ के लिए एक कॉलम में लिखा, “हमारे युवा क्रिकेटर्स अपने भारतीय समकक्षों की तुलना में वीकेंड महारथी ही हैं।” “जब तक कोई भारतीय खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में पहुंचता है, तब तक उसके पास वो सभी ट्रेनिंग मौजूद होती है जो उसे सफलता के उचित अवसर के साथ भारतीय टीम में चलने के लिए तैयार करती है।

ग्रेग चैपल ने आगे कहा कि वे भारतीय खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करते हुए और उन्हें मिले मौकों को ऐसे भुनाते हुए देखने पर आश्चर्यचकित नहीं हुए। 72 वर्षीय का मानना ​​है कि भारतीय युवाओं को अच्छा प्रदर्शन करते देखने के लिए क्रिकेट बिरादरी को आदत डालनी चाहिए क्योंकि भारत में विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ पांच टीमों का उत्पादन करने की क्षमता है।

“आप में से जो लोग हैरान थे कि भारत इस श्रृंखला में इतनी मुश्किल और पेचीदा परिस्थितियों में ऐसे खुद की नर्व पर काबू कर सकता है और जीत सकता है, तो मैं कहता हूं: आपको इसकी आदत डालनी चाहिए। भारत के सर्वश्रेष्ठ टीम बनने के बारे में चिंता न करें – वे पहले से ही विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ पांच टीमों का निर्माण करने में सक्षम हैं! ”

पूर्व क्रिकेटर ने ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन का भी समर्थन किया है और कहा है कि वह पेन और गेंदबाजों को नुकसान के लिए दोषी नहीं ठहराते क्योंकि इस बार बल्लेबाज उम्मीदों पर खरा नहीं उतरे और पूरी टीम ने निराश किया।

Leave a Reply