• Sat. Dec 10th, 2022

जगदानंद सिंह बने रहेंगे RJD प्रदेश अध्यक्ष, अब्दुल बारी सिद्दीकी को मिली नई जिम्मेदारी

BySumit Kumar

Nov 25, 2022

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष को लेकर चल रहे संशय पर विराम लग चुका है. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) ने प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर स्पष्ट कर दिया है. जगदानंद सिंह आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे. राजद के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी को नयी जिम्मेदारी दी गई है. उन्हें राजद का नया राष्ट्रीय प्रधान महासचिव बनाया गया है. वहीं, चार लोगों को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है।

लालू से मुलाकात के बाद दूर हुई नाराजगी : बता दें कि गुरुवार शाम उन्होंने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद से करीब एक घंटे तक मुलाकात की. सूत्र बताते है कि मुलाकात के बाद सारे गिले-शिकवे दूर हो गये और उनकी नाराजगी भी दूर हो गयी है. पिछले दो महीने से पार्टी के लिए असहज स्थिति पैदा करने के बाद भी जगदानंद सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखने की वजह उनकी साफ सुथरी छवि और अनुशासनप्रिय होना है।

जगदानंद सिंह ही रहेंगे RJD प्रदेश अध्यक्ष :नीतीश मंत्रिमंडल से सुधाकर सिंह को मंत्री पद से हटाए जाने के बाद पार्टी से नाराज बताए जा रहे जगदानंद सिंह ने पार्टी से इस्तीफे की पेशकश की थी. इसके बाद से वह पार्टी के कार्यक्रम से लगातार दूरी बनाए हुए थे. पिछले कई दिनों से वो पार्टी ऑफिस भी नहीं पहुंचे थे. यहां तक कि दिल्ली में आयोजित पार्टी की कार्यकारिणी में भी वह शामिल नहीं हुए थे. जिससे कयासो को बल मिला था और कहा जा रहा था कि आरजेडी ने भी उनका विकल्प चुन लिया है और जगदानंद सिंह की जगह अब्दुल बारी सिद्दीकी को पार्टी की कमान दी जा रही है. लेकिन एकबार फिर लालू प्रसाद ने जगदानंद सिंह को मना लिया है और वह पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे।

आरजेडी राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित : इसी के साथ, आरजेडी राष्ट्रीय कार्यकारिणी भी घोषित कर दी गयी है. राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के अलावा चार उपाध्यक्ष बनाये गये हैं. इस बार दो नये उपाध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद यादव और उदय नारायण चौधरी बनाये गये हैं. इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी को फिर से उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गयी है. इसके अलावा आरजेडी में 12 सचिव बनाये गये हैं. सूत्रों की माने तो 28 पदाधिकारी बनाये गये हैं. जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कुल 85 सदस्य बनाये गये हैं।