मणिपाल एकेडमी द्वारा मारवाड़ी कॉलेज भागलपुर में वोकेशनल कोर्स छात्रों के लिए किया गया सेमिनार का आयोजन

मारवाड़ी महाविद्यालय के बीसीए विभाग द्वारा दो कार्यक्रम का
आयोजन किया गया। प्रथम सत्र में 10.00 बजे से 12.30 PM तक बीसीए, बीआईटी, बीबीए एवं एमसीए के छात्र-छात्राओं के लिए “कैरियर गाइडेंस एवं जाब अपारच्युनिटी’ विषय पर
कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें मनिपाल एकेडमी ऑफ BFSI के लक्ष्मी सिंह ने जाब अपारच्युनिटी के बारे में विस्तृत रूप से छात्र-छात्राओं को जानकारी दी। एक्सिस बैंक के
डिप्टी मैनेजर, आइ.टी. के पद पर प्लेसमेंट हेतु प्रोफेशनल कोर्स के बच्चों को तैयार रहने को कहा।

BCA के कोओर्डिनेटर प्रो. अनिल कुमार सिंह ने कार्यक्रम की शुरूआत की तथा प्राचार्य प्रो. (डॉ.) गुरूदेव पोद्दार द्वारा “कैरियर गाइडेंस एवं जाब अपारच्युनिटी’ विषय पर होनेवाले कार्यशाला में इसके लाभ के बारे में अवगत कराया। इस कार्यक्रम में महावि. के वरीय शिक्षक प्रो. रामसेवक सिंह, प्रो. एके दत्ता, प्रो. अरविंद कुमार साह तथा बीसीए, बीआईटी तथा
बीबीए के लगभग 150 बच्चों ने भाग लिया। जिसमें मारवाड़ी कॉलेज के अतिरिक्त टीएनबी कॉलेज, एमसीए विभाग, बायोइन्फॉरमेटिक्स विभाग एवं एसएम कॉलेज आदी के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।

कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में 12.30 PM से मारवाड़ी महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. गुरूदेव पोद्दार जो दिनांक 31.01.2021 को सेवानिवृत होने जा रहे हैं का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। बीसीए की छात्रा सनजना, दीक्षा, डौली, अभिलाषा आदी छात्राओं के द्वारा प्राचार्य को तिलक लगाकर स्वागत किया गया। दीप प्रज्जवलन के बाद प्राचार्य को बीसीए के समन्वयक प्रो. अनिल कुमार सिंह द्वारा पुष्पगुच्छ एवं अंग-वस्त्र देकर सम्मानित किया गया तथा बीसीए की ओर से शिक्षक एवं छात्र-छात्राओं द्वारा याद स्वरूप उपहार भेट किया गया।

बीसीए समन्वयक द्वारा सर्वप्रथम प्राचार्य के सम्मान में
स्वागत भाषण दिया गया। इस अवसर पर महावि. के सभी शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मी एवं छात्र-छात्राएं महवि. के सलारपुरिया हॉल में उपस्थित रहें। छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की मनमोहक प्रस्तुति दिया गया। महाविद्यालय के शिक्षक प्रो. राम सेवक सिंह, प्रो. सुधीर कुमार सिंह, प्रो. विकल कुमार गुप्ता, प्रो. शिव प्रसाद यादव आदी ने अपने विचार व्यक्त किया तथा प्राचार्य के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला एवं अपना अनुभव साझा किया।

प्राचार्य ने अपने विदाई भाषण के दौरान कहा कि भले ही मैं प्राचार्य पद से सेवा निवृत हो रहा हूँ परन्तु मैं मूल रूप से एक शिक्षक हूँ और मरते दम तक शिक्षक की भूमिका निभाता
रहूँगा। उन्हौने कार्यक्रम में उपस्थित सभी शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी, छात्र-छात्राएं एवं प्रिंट एवं इलेक्ट्रोनिक्स मीडिया के बन्धुगण को अपने जीवन में उचाईयों पर पहुँचने के लिए शुभकामनाएं दी। अंत में धन्यवाद ज्ञापन प्रो. एके दत्ता, निदेशक बीबीए ने किया। कार्यक्रम में बीसीए के शिक्षक प्रणव कुमार, तारीक अहमद, जफर इमाम, एससी राय, मीनू पाण्डेय एवं अरूण कुमार तथा बीसीए के छात्र कपीस शर्मा, कोमल सिंह, मनीष कुमार आदी ने अपना बहुमूल्य योगदान दिया जिससे यह कार्यक्रम पूर्णतः सफल रहा।

Leave a Reply