Bihar Muzaffarpur Politics State TOP NEWS

केंद्र से मिले पैसों पर काम के बदले राज्य सरकार कर रही राजनीति: मोदी


पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार देश की तरक्की के लिए लगातार बेहतर काम कर रही है। पिछले तीन साल में महंगाई को नहीं बढ़ने दिया गया। बीते दो साल में खाद की कालाबाजारी नहीं हुई। ये बातें भाजपा नेता पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को प्रखंड के नकनेमा में कहीं। वे पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी सह महासंपर्क अभियान के दौरान लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बिहार को एक हजार मेगावाट अतिरिक्त बिजली की आपूर्ति करती है। घर व खेती के लिए अलग-अलग फीडर बनाने के लिए छह हजार करोड़ रुपये मुहैया करा चुकी है। लेकिन बिहार सरकार इस दिशा में काम करने के बजाय राजनीति करने में लगी है।
केंद्र ने बिहार में छह लाख मकान बनाने के लिए 75 हजार रुपये की राशि को बढ़ाकर डेढ़ लाख रुपये कर दी है। पिछले तीन साल में चार करोड़ परिवारों को शौचालय उपलब्ध करा दिया गया है। कहा कि गुजरात के 31 जिलों में किसी भी परिवार को शौच करने के लिए बाहर नहीं जाना पड़ता है। बिहार में 40 लाख परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन दिया गया है। इतना ही नहीं केंद्र ने इस योजना को आधार से जोड़कर दो करोड़ फर्जी कनेक्शनधारकों की पहचान कर सरकारी राजस्व की बचत की है।शराबबंदी पर चुटकी लेते हुए कहा कि शराब की होम डिलेवरी हो रही है। कहा कि जिस राज्य में 15 लाख लीटर शराब चूहे पी जाते हो, उस राज्य में सुशासन की बात करना लोगों को ठगना नहीं तो और क्या है।
राजद सुप्रीमो लालू पर हमला करते हुए कहा कि खुद को गरीबों का नेता बताने वालों के पास एक हजार करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति कहां से आ गई? कहा कि मात्र 26 वर्ष की आयु में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के पास 750 करोड़ की संपत्ति का होना, गरीबो के साथ धोखा नहीं तो और क्या है? कहा कि 30 मुस्लिम देशो में तीन तलाक पर रोक है, फिर भारत में इसको लेकर हंगामा करना तुष्टिकरण नहीं तो और क्या है?कार्यक्रम की अध्यक्षता धर्मपाल सिंह ने की और सभा का संचालन लालबाबू प्रसाद ने किया। मौके पर जिला अध्यक्ष रामसूरत राय, कुढ़नी विधायक केदार गुप्ता, अशोक सिंह, राजेश कुमार वर्मा, हरिमोहन चौधरी, अरविंद कुमार सिंह, अजय कुमार, मुकेश कुमार चंद्रवंशी, रंजन सिंह, विपिन कुमार सिंह, राणाप्रताप सिंह, हिमांशु गुप्ता, अवधेश श्रीवास्तव, अमरेश मालाकार, जयनंदन प्रसाद, सुरेश प्रसाद आदि भी मौजूद थे।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *