प्रेम प्रसंग में युवक की क्रूरता से हत्या कर शव को भुसखार में छुपाया। विकासमित्र ने परिजनों के साथ घटना को दिया अंजाम रस्सी से बांधकर पीटते-पीटते मार डाला उत्तम को

प्रेम प्रसंग में युवक की क्रूरता से हत्या कर शव को भुसखार में छुपाया। विकासमित्र ने परिजनों के साथ घटना को दिया अंजाम रस्सी से बांधकर पीटते-पीटते मार डाला उत्तम को

2nd November 2018 0 By Satyam Kashyap

नारायणपुर: जानकारी के अनुसार भवानीपुर थाना अंतर्गत मोजमा गाव में नवटोलिया के 24 वर्षिय युवक उत्तम कुमार की हत्या बुधवार की रात्रि कुरता,निर्दयता से किया गया। लाश को बोरा में छिपाने के लिए मोजमा गाँव के एक भुसखार मे रखा गया था।युवक का हाथ, पैर पीछे बंधा था।पैर भी रस्सी से बंधा था, मुह में कपड़ा ठूसा था, गले मे रस्सी लपेटा व चेहरे में कोई ठोस बस्तु से मारा गया था।भवानीपुर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हेतु  अनुमंडल अस्पताल नवगछिया भेजा।
इस मामले में भवानीपुर पुलिस ने विकाश मित्र श्रवण दास व उसकी पत्नी आढ़ूला देवी पुत्री रेशमी कुमारी को हिरासत में लिया है।मामले के बारे में मृतक के पिता रमेश कुमार रंजन उर्फ विलाश मंडल ने छः लोगो के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।जिसमे श्रवण दास,उसकी पत्नी आढ़ूला देवी,पुत्री रेशमी कुमारी व श्रवण दास का पुत्र मनोरंजन दास उर्फ फंटूश, मनीष दास,श्रवण दास के दामाद खगड़िया जिला के बेलदौर थाना के पियनगरा गाव के राजीव कुमार को नामजद किया है। आवेदन में मृतक के पिता रमेश कुमार रंजन ने कहा है कि श्रवण दास की पुत्री रेशमी कुमारी का उत्तम कुमार से प्रेम प्रसंग था।इस कारण 6 माह पूर्व श्रवण दास से विवाद हुआ था। जिसे समझौता कर सुलझा लिया गया था।लेकिन उस समय श्रवण के पुत्र मनीष ने धमकी दिया गया था घर के आसपास दिखाई दिया तो जान से मार दूंगा। 
परिणाम- रेशमी के भाई मनीष कुमार ने बुधवार को करीव 9:30 बजे रात्रि में उत्तम को फोन कर कहा कि घर पर पापा बुला रहे है,आज घर पर भोज है।बुधवार को जब घर वापस नही लौटा तो इस बीच उत्तम के परिजन ने खोजना शुरू किया तो गुरुवार की दोपहर में उत्तम की लाश बोरा में मिला।जिसे विकास मित्र श्रवण दास ने सभी के साथ मिलकर घर के पास में एक पड़ोसी के भुसखार में छिपाया था।

रोती बिलखती पत्नी 

उत्तम कुमार की शादी चार साल पूर्व खगड़िया जिला के राको गाँव मे पिंकी देवी से हुआ था।

मृतक का फ़ाइल फ़ोटो 

रेशमी है चालबाज: इंटर स्तरीय उच्च विद्यालय मौजमा में रेशमी कुमारी ग्यारहवीं की छात्रा है।रेशमी का उत्तम से चार वर्षों से प्रेम संबंध था।जो रेशमी के परिजन को नागवार था।रेशमी  कम उम्र की थी लेकिन चार सालों  में उसने कई यार बना लिया था।प्यार और जिस्म की गर्मी का ऐसा बुखार चढ़ा की कई उसके दीवाने हो गए थे।युवकों को प्यार के जाल में फंसाकर कर उसके रुपये पर मस्ती करना उसका शौक था।लेकिन प्यार में अंधा उत्तम उसके शौक को साजिश नहीं समझ सका और रेशमी के प्रेम का सुनहरा जाल उसका मौत बन गया

Advertisements