पटना: रेलवे में नौकरी के बदले जमीन घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. ईडी ने लालू प्रसाद यादव के खिलाफ कार्रवाई का डंडा चलाया है. लालू की संपत्ति को ईडी ने अटैच किया है. राजद अध्यक्ष और पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ गई है. लालू परिवार को बड़ा झटका लगा है. प्रवर्तन निदेशालय की ओर से लालू प्रसाद यादव के खिलाफ कार्रवाई की गई है. लालू प्रसाद यादव के प्रॉपर्टी को अटैच किया गया है।

ml

बता दें कि ऐसा तीसरी बार लालू की संपत्ति को ईडी द्वारा अटैच किया गया है. इस बार उनकी गाजियाबाद और बिहार की सभी संपत्ति शामिल है. बता दें कि बिहार के पटना स्थित बिहटा, महुआबाग, दानापुर में संपत्ति को ईडी द्वारा अटैच किया गया है. इसके अलावा यूपी में लालू यादव की बेटी हेमा यादव की संपत्ति को भी अटैच किया गया है।

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के दिल्ली स्थित ‘डी ब्लॉक’ वाली प्रॉपर्टी को भी प्रवर्तन निदेशालय ने अटैच किया है. इन संपत्तियों का सरकारी मूल्य 6 करोड़ 2 लाख रुपए आंका गया है. हालांकि बाजार मूल्य इससे कई गुना अधिकर है. 10 मार्च 2023 को लालू यादव के 15 ठिकानों पर भी ईडी ने एक साथ छापेमारी की थी. उस वक्त उनके रिस्तेदारों के घरों की भी तलाशी ली गई थी. तेजस्वी यादव के दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित बंगले डी-1088 पर भी ईडी ने भी छापा मारा था।

10 मार्च 2023 को हुई ईडी की छापेमारी में ईडी ने 1 करोड़ रुपए का अघोषित कैश जब्त किया था. ईडी की ओर से बताया गया था अपराध से अर्जित 600 करोड़ की संपत्ति का पता चला है. इसके बाद से कई छापे लालू यादव और उनके नजदीकियों पर पड़े. लालू यादव, राबड़ी यादव, तेजस्वी यादव और हेमा यादव को समन देकर पूछताछ भी हुई।