Delhi INTERNATIONAL NATIONAL TOP NEWS

अमेरिकी धमकी का दबाव नहीं, भारत के साथ जल्द करेंगे और डिफेंस डील-रूस

भारत में रूसी राजदूत निकोलई कुदाशेव ने गुरुवार को कहा कि भारत-रूस रक्षा सौदों में अमेरिकी प्रतिबंध बाधक नहीं बनेंगे. उन्होंने कहा कि भारत और रूस तेज गति वाले छोटे युद्धपोत और कलाश्निकोव राइफ़ल पर जल्द ही समझौतों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं.

कुदाशेव ने हाल में हुए S-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली समझौते को भारत-रूस समझौतों के इतिहास में ‘सबसे बड़ा समझौता’ बताया. उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के बीच हुए ‘सबसे तेज़’ समझौतों में से एक था और वहां कोई लंबी बातचीत नहीं हुई थी. उन्होंने कहा कि चार से पांच अक्टूबर तक हुई राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की यात्रा के दौरान इस समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे और इस समझौते का कार्यान्वयन 2020 में शुरू होगा.

रूसी राजदूत ने दिल्ली में पत्रकारों के एक चुनिंदा समूह से कहा, ‘आने वाले महीनों में आप और समझौतों की उम्मीद कर सकते है. बातचीत चल रही है, यह सामान्य प्रक्रिया है. हमें उम्मीद है कि दो से तीन महीनों के भीतर हम तेज गति वाले छोटे युद्धपोतों पर समझौता कर सकते हैं और हम जल्द ही कलाश्निकोव राइफ़ल पर समझौता कर सकते हैं.’

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *