पटना: दिनदहाड़े रेमंड शोरूम पर बदमाशों ने की फायरिंग, बाल-बाल बचा मालिक

पटना के बिहटा में बदमाशों ने मंगलवार को रेमंड शोरूम पर अंधाधुंध फायरिंग की। अपराधी रेमंड शोरूम के मालिक राजेश गुप्ता की हत्या की नीयत से पहुंचे थे। हालांकि घटना में वे बाल-बाल बच गए।
अपराधियों ने पहले से रेकी कर रखी थी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अपराधी बाइक पर थे। तीन-चार राउंड फायरिंग की और थाने की तरफ से होते हुए भाग गये। फायरिंग की आवाज सुनते ही कारोबारी, अपने-अपने दुकानों के शटर गिराने लगे। इस घटना के बाद कारोबारियों में दहशत फैल गई है।
पुलिस के अनुसार, रंगदारों ने 8 दिसंबर 2017 को रंगदारी मांगी थी इसी रेमंड शोरूम के मालिक से। तब कोतवाली थाने में रंगदारों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई थी। सुरक्षा के लिए प्रशासन से एक बॉडीगार्ड भी दिया गया था। घटना के 6 महीने के बाद अपराधियों ने गोलीबारी से दहशत फैला दी है। पुलिस के अनुसार अपराधियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है। हालांकि रेंज में उनका चेहरा नहीं आया है। बदमाशों ने चेहरा भी नहीं ढका था। पुलिस के अनुसार घटना में बिशनपुरा गांव के रहने वाले मनोज सिंह का हाथ हो सकता है । इसके पहले अमित सिंह और उसके गुर्गे को रंगदारी के मामले में जेल भेजा जा चुका है।

मनोज सिंह के गिरोह ने ही 3 महीने पहले व्यवसाई से मांगी थी रंगदारी
बिहटा में गणपति इलेक्ट्रिकल के मालिक निशू उर्फ निशांत कुमार सिंह से कुख्यात मनोज सिंह ने टी महीने पहले रंगदारी मांगी थी रंगदारी नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। पीड़ित व्यवसायी ने बिहटा थाने में अपराधी मनोज सिंह के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसी मनोज गैंग ने बिहटा में एक के बाद एक व्यवसायियों के पास लगातार धमकी भरा रंगदारी का कॉल किया था।
अपराधी ने कई दुकानदारों को भेजा था फरमान मनोज नौबतपुर इलाके में डेढ़ दशक से सक्रिय रहा है। उसके बाद बिहटा, मसौढ़ी, मोकामा, बाढ़, फुलवारीशरीफ, मनेर, बिक्रम, पालीगंज में अपना वर्चस्व बना लिया है। उसने बड़ा गिरोह बना लिया है। गिरोह के अपराधियों की मदद से वह सुपारी लेकर यूपी में भी वारदात को अंजाम दे चुका है। उसके गिरोह के अपराधी रंगदारी, हत्या, लूट, अपहरण से लेकर कई बड़ी वारदात कर चुके हैं। मनोज सिंह और उसके बेटे मानिक पर दो दर्जन से अधिक हत्या, लूट, रंगदारी, अपहरण, मारपीट व आर्म्स एक्ट के मामले कई थानों में दर्ज है।
सुपारी लेकर कोर्ट परिसर में किया हत्या
मनोज सिंह ने बीते 8 सितंबर 2017 को पांच लाख रुपए सुपारी लेकर बाढ़ कोर्ट परिसर में अपराधी गुड्डू सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मनोज गिरोह ने 50 लाख रुपए की सुपारी लेकर मोकामा के मरांची थाने के जलालपुर नौरंगा निवासी अपराधी सोनू-मोनू की मदद से एक विधायक की हत्या की साजिश रची थी। बिहटा में उसी के गिरोह के अमित व पवन ने कई व्यवसायियों से रंगदारी मांगा। बिहटा में कुछ माह पहले रंगदारी नहीं देने पर एक दवा दुकान में फायरिंग की थी।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *