Bigg Boss 11: ज्योति ने कहा- शहर की छोरियों से बिहार के गांव की गोरियां कम नहीं

बिग-बॉस सीजन 11 की कंटेस्टेंट्स बिहार की बेटी ज्योति कुमारी का कहना है कि बिग-बॉस के माध्यम से वह अपनी पर्सनालिटी दिखाना चाहती हैं कि गांव की लड़कियां किसी से कम नही। वह कहती हैं कि ‘शहर वालों का मानना है कि गांव की लड़कियां सीधी साधी होती हैं। लेकिन मैं न तो सीधी हूं न तो सादी हूं। इस बार शहर की छोरियों के बीच में गांव की गोरी का होना भी जरूरी है।’

सभी कॉन्टेस्टेंट का बिग बॉस के घर में रहते घर के सदस्यों से जैसी उम्मीदें थीं वह वैसा ही कर रहे हैं। चारों तरफ घर में अशांति का माहौल छाया हुआ है। वहीं शो में बिहार के छोटे से गांव गंगाचल मनकाने की रहने वालीं ज्योति भी घर-सदस्य बनकर बाकि घर सदस्यों के बीच हैं। ज्योति खुद पर विश्वास रखती हैं इसलिए वह बच्चों को ट्यूशन भी देती हैं। ज्योति इससे अपना खर्चा खुद निकालती हैं।

ज्योति की मां बताती हैं कि ज्योति का स्वभाव ऐसा है कि जहां कुछ गलत हो रहा होगा वह वहां बीच में जाकर बोल देगी। वह खुद भी कहती हैं कि वह एक बहुत मुंह-फट लड़की हैं। वह कहती हैं, ‘मुझे जिसके बारे में जो बोलना होता है मैं सामने बोलती हूं। पीठ पीछे नहीं।

 

जो लोग अमीर गरीब में फर्क करते हैं मैं उन्हें बिलकुल पसंद नहीं करती हूं।’ ज्योकि के पिता ने बताया,’ज्योति ने कहा कि हम मुंबई जाएंगे, तो हम बोले काहे जाएंगे। बोली हिरोइन बनने।

 

ज्योति बताती हैं कि उनके गांव में लड़कियों को ज्यादा छूट नहीं दी जाती, मैट्रिक के बाद ही उनकी शादी करा दी जाती है। उन्हें पढ़ने कामौका तक नहीं मिलता। लड़कियां यहां अपनी मर्जी का कुछ नहीं कर सकतीं। उनके सपनें क्या हैं कुछ मायने नहीं रखता। लेकिन एक चपरासी की बेटी के सपने मामूली हों यह जरूरी तो नहीं?

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *